police-submit-charge-sheet-in-Bhopal-rape-case-

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में तीन दिन पहले हुए मासूम के साथ रेप मामले में कोर्ट में बुधवार को आरोपी विष्णु के खिलाफ चालान पेश किया गया। बताया जा रहा है चालान 100 से अधिक पन्नों का है। इस घटना के बाद से लोगों में आक्रोश है। जिसे देखते हुए आरोपी को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कोर्ट लाया गया।  

कोर्ट में पुलिस ने आरोपी विष्णु को जज के सामने पेश किया। जहां वह अजीब ओ गरीब हरकतों करने लगा। बताया जा रहा है कोर्ट में जज के सामने आरोपी विष्णु खुद के लिए फांसी की सज़ा मांगने लगा। उसने कोर्ट में जज के सामने कहा कि मैं जीना नहीं चाहता, मुझे फांसी दे दी जाए। पुलिस ने कोर्ट में करीब 110 पन्नों का चालान पेश किया है। इसमें 40 गवाहों के नाम भी दिए गए हैं। कोर्ट इस मामले में अब अगली सुनवाई गुरूवार को करेगी। 

गौरतलब है कि एफएसएल रिपोर्ट में साफ हुआ कि बच्ची के साथ में मौत के बाद में बलात्कार किया गया था। एएसपी अखिल पटेल का कहना है कि डीआईजी इरशाद वली की ओर से लैब में एक लेटर भेजा जा रहा है। जिसमें प्राथमिक्ता के साथ में सेंपल रिपोर्ट को 15 से बीस दिन के बीच में भेजने की बात लिखी गई है। वहीं आईजी भोपाल योगेश देशमुख के बलात्कारी को गोली मरने के बयान पर बवाल मच गया है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल का कहना है कि आईजी का बयान निंदनीय है। पुलिस अधिकारी अनर्गल बयान देने के बजाए थानों की दशा को सुधारे। थानों में पीड़ितों के साथ में सामान्य व्यहवार करें।