कचरे से परेशान आदमपुर छावनी के लोगो को लेकर इंदौर पहुँचे प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| आदमपुर छावनी में कचरा खंती की समस्या का हल निकालने प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने मोर्चा संभाल लिया है| विधायक शर्मा गुरूवार सुबह नगर निगम आयुक्त के साथ आदमपुर छावनी पहुँचे| शर्मा ने कहा कि आदमपुर छावनी में कचरे की वजह से इतनी बदबू आती है कि एक मिनट खड़े रहा नही जाता । शर्मा ने निगम आयुक्त से कहा नागरिक बहुत परेशान है इनकी परेशानी देखी नही जाती । आदमपुर छावनी से रामेश्वर शर्मा नगर निगम आयुक्त के वी एस चौधरी एवं स्थानीय नागरिको के साथ इंदौर पहुँचे | इंदौर के देव गुराड़ीया में NEPRA कंपनी द्वारा संचालित ट्रेन्चिंग ग्राउंड में आधुनिक मशीनों के माध्यम से कचरा निष्पादन की प्रक्रिया का अवलोकन किया ।

दरअसल, भोपाल के आदमपुर छावनी में नगर निगम भोपाल द्वारा प्रतिदिन सैकड़ो टन कचरा डंप किया जा रहा है । कचरे की वजह से आदमपुर छावनी के आसपास लगभग एक दर्जन से अधिक गांव दूषित हवा पानी को मजबूर है । छावनी में लाखों टन कचरा जमा है जिससे दूर दूर बदबू और प्रदूषण की वजह से यहाँ अनेक बीमारियों से भी लोग ग्रसित है । भानपुर खंती को जब यहाँ शिफ्ट किया गया था तब यहाँ कचरे के निष्पादन के बड़े बड़े वादे किये गए थे जो खोखले साबित हुए ।

गौरतलब है कि इंदौर एवं भोपाल में प्रतिदिन लगभग एक जैसा 600 टन सूखा एवं गिला कचरा निकलता है । देव गुराड़िया में NEPRA कंपनी द्वारा प्रतिदिन 300 टन सूखे कचरे का निष्पादन किया जाता है । प्राइवेट पब्लिक पार्टनरशिप के सिद्धांत पर 30 करोड़ से निर्मित ट्रेन्चिंग ग्राउंड से निगम प्रशासन को सालाना आय भी होती है ।

गीले कचरे सब्जी और बचे हुए खाने से बनेगा BIO-CNG
प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा इंदौर दौरे के दौरान महिंद्रा ग्रुप द्वारा संचालित चौइतराम मंडी के हरे कचरे एवं बचे हुए भोजन से बनने वाले BIO-CNG एवं खाद के निर्माण प्लांट का अवलोकन करने भी पहुँचे । प्रतिदिन इस प्लांट से 20 टन गीले कचरे का निष्पादन कर BIO-CNG एवं खाद बनायी जाती है । भोपाल में इस प्लांट की क्षमता 300 टन होगी ।