Black fungus का निःशुल्क इलाज करेगी शिवराज सरकार, अधिकारीयों को दिए निर्देश

शिवराज ने ब्लैक फंगस का इलाज निःशुल्क कराने के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पूरे मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में ब्लैक फंगस (Black fungus) के करीब 600 मामले सामने आ चुके हैं। जिसमें से कई लोगों की जान भी जा चुकी है वही इस संक्रमण का इलाज काफी महंगा होता है। जिसके बाद अब शिवराज सरकार (Shivraj government) ने इसका इलाज निःशुल्क करने के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें…पीएम मोदी पर भड़की ममता बनर्जी, बोली – हमें बोलने तक नहीं दिया गया

दरअसल सीएम शिवराज ने आज इंदौर (Indore) कलेक्ट्रेट कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इंदौर संभाग के सभी जिलों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और उपचार के लिए किये जा रहे प्रबंधों की क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप (Crisis Management Group) की बैठक लीजिसमें उन्होंने करुणा के कम होते हुए मामलों पर जानकारी दी उन्होंने बताया कि प्रदेश में पॉजिटिविटी दर 6.39% रह गई है। उन्होंने आगे कहा कि यह माना जाता है कि 5% से कम संक्रमण है तो संक्रमण काबू में है। हमें 6.39% की संक्रमण दर को धीरे-धीरे 0% की ओर ले जाना है।

ब्लैक फंगस का होगा मुफ्त इलाज
बता दें कि ब्लैक फंगस के इलाज के लिए जो इंजेक्शन लगाए जाते हैं वह 5 से 8 हजार तक मिलते है। यह इंजेक्शन एक मरीज को रोज 5 वायल लगते हैं। जिसकी वजह से इसमें रोजाना खर्चा करीब 30 इ 40 हजार आता है। वही एक मरीज को कम से कम 7 दिन इंजेक्शन लगना ज़रूरी होता है। उसके बाद भी इंफेक्शन के मद्देनज़र इंजेक्शन लगाए जाते हैं वही अगर यह संक्रमण ज्यादा फैल जाता है तो इसकी सर्जरी भी करनी पड़ती है। जिसमें काफी खर्चा आता है। जिसको लेकर शिवराज ने कहा कि कोरोना महामारी के बाद हमारे सामने अब ब्लैक फंगस के रूप में एक नई चुनौती है। हमने फैसला किया है कि ब्लैक फंगस के इलाज की भी हम नि:शुल्क व्यवस्था करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि नेज़ल एंडोस्कोपी के माध्यम से ब्लैक फंगस का बहुत आसानी से पता लगाया जा सकता है। प्रारंभिक स्तर पर इसकी जांच और इलाज से रोकथाम की जा सकती है।साथ ही शिवराज ने कहा कि हम गरीबों को नि:शुल्क राशन एवं अन्य योजनाओं का लाभ मिलना सुनिश्चित करेंगे।

यह भी पढ़ें…Corona, Balck fungus के बाद अब देश में White fungus की एंट्री, 4 मरीज मिलने से मचा हड़कंप