क्या MP में 1 जून से खुलेंगे धार्मिक स्थल, कमलनाथ ने सरकार से की मांग

भोपाल| कोरोना संकट (Corona Crisis) के चलते देश भर में लागू लॉक डाउन (Lockdown) के चौथे चरण की मियाद 31 मई को ख़त्म हो रही है| अब लॉकडाउन आगे बढ़ेगा या नहीं इसको लेकर चर्चा का दौर जारी है| वहीं कोरोना संकटकाल में बंद धार्मिक स्थलों (Religious places) के द्वार भक्तों के लिए खोले जाएंगे या नहीं इसका भी इन्तजार किया जा रहा है| इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने शिवराज सरकार पर तंज कसते हुए कहा जब शराब की दुकाने खोली जा सकती है तो धार्मिक स्थल अभी तक बंद क्यों हैं|

कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा ‘मध्यप्रदेश सरकार भी कर्नाटक और प.बंगाल की तरह 1 जून से प्रदेश में सभी धर्मों के धार्मिक स्थल खोलने का निर्णय ले’। उन्होंने कहा ‘आवश्यक मापदंडो का पालन सुनिश्चित करवाकर यह निर्णय लेकर इसे अमल में लाया जावे’।
‘जब सरकार द्वारा प्रदेश में आमजन की इच्छा के विपरीत लॉकडाउन में भी शराब की दुकाने खोली जा सकती है तो आमजन की आस्था के केन्द्र धार्मिक स्थल अभी तक बंद क्यों’|

गौरतलब है कि लॉक डाउन के पहले चरण से ही संक्रमण के खतरे को देखते हुए देश भर में धार्मिक स्थलों को बंद किया गया है| इस बीच लॉकडाउन 4.0 खत्म होने से पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में धार्मिक स्थल 1 जून से खोलने का फैसला किया है| लेकिन इसके लिए कुछ जरूरी बातें भी होंगी जिसका पालन करना होगा| अन्य कई राज्य भी इस पर विचार कर रहे हैं| अब देखना होगा कि क्या मध्य प्रदेश में भी अब धार्मिक स्थल खुलेंगे या नहीं|