‘जिसने वोट नहीं दिया, उन्हें रुला न दिया तो मेरा नाम अर्चना चिटनीस नहीं’

ex-minister-archana-chitnese-warn-to-voter-after-defeat-in-election-

बुरहानपुर | मध्य प्रदेश में तीन बार सत्ता में रहने वाली भाजपा चौथी बार सरकार बनाने में असफल रही| शिवराज सिंह चौहान ने इस हार की जिम्मेदारी ली है, वहीं शिवराज कैबिनेट के आधे से ज्यादा मंत्री चुनाव हार गए| कोई एट्रोसिटी एक्ट की हवा को दोषी मान रहा है तो कोई भितरघात को दोष दे रहा है| इस बीच मंत्री रही अर्चना चिटनीस ने अपनी हार के बाद वोट न देने वालों को सीधी धमकी दे डाली है| हार के बाद जनता को आभार जताने एक सभा में उन्होंने कहा जिन लोगों ने मुझे वोट नहीं दिया उनको अगर मैंने रूला ना दिया तो मेरा नाम अर्चना चिटनीस नहीं | 

बुधवार रात को एक सभा को सम्बोधित करते हुए कहा ‘जो कमाल मैंने सत्ता में रहकर किया वैसा ही रोल मैं सत्ता से बाहर रहकर भी बहुत खुबसूरती से निभाऊंगी’ | उन्होंने कहा जिन लोगों ने मुझे वोट दिया उनका सिर झुकने नही दूंगी और जिन लोगों ने भूलचूक में या किसी के बरगलाने से या भय से या मन से मुझे वोट नहीं दिया तो उनको अगर मैंने रूला ना दिया तो मेरा नाम अर्चना चिटनीस नहीं और वह पछताएंगे|  अर्चना के इस बयान के बाद लोग भी हैरान रह गए| 

दरअसल, बीजेपी की सत्ता से विदाई के साथ ही कई मंत्रियों की राजनीति पर सवाल उठ रहे हैं जो अपनी सीट भी नहीं बचा पाए| बुरहानपुर जिले में अर्चना चिटनीस का जादू नहीं चला, जबकि सरकार में रहते हुए अहम विभाग वो संभाल रही थी और सरकार में उनका बड़ा कद था| बुरहानपुर जिले की दोनों विधानसभा सीट बुरहानपुर और नेपानगर से भाजपा का सफाया हो गया| बुरहानपुर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी अर्चना चिटनीस 5120 वोट से निर्दलीय प्रत्याशी ठाकुर सुरेन्द्र सिंह से हार गईं, लेकिन यहां पर नोटा को मिला वोट इस अंतर से भी ज्यादा रहा| बीजेपी के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है कि उनके मंत्री ही चुनाव हार गए | जबकि टिकट वितरण से पहले एक दर्जन से अधिक मंत्रियों की सीट पर खतरा बताया जा रहा था और रिपोर्ट में भी इनकी स्तिथि निगेटिव मानी जा रही| इसके बावजूद कुछेक को छोड़कर ज्यादातर मंत्रियों की सीटों पर फेरबदल नहीं किया|