इंदौर जोन के आईजी ने की बुरहानपुर पुलिस की तारीफ, बोले- सजा में भला करना कोई इनसे सीखे

इंदौर जोन के आईजी ने बुरहानपुर ने कहा कि पुलिस का मानना है 'सजा में ही आपका भला है', जिसे बुराहनपुर पुलिस ने साबित कर दिया है। पढ़िए पूरी खबर....

बुरहानपुर, शेख रईस। बुरहानपुर जिला महाराष्ट्र की बॉर्डर से सटा हुआ है। देश भर के साथ ही महाराष्ट्र में लागतार मामले बढ़ते ही जा रहे है। ऐसे में मध्यप्रदेश के सिमावर्ती जिले बुरहानपुर (Burhanpur) में जिला प्रशासन और पुलिस द्वारा कोरोना को रोकथाम के लिए लगातार जरूरी कदम उठाए जा रहे है। जिसको लेकर कई बार प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने बुरहानपुर कलेक्टर प्रवीण सिंह (Collector Praveen Singh) तारीफ करते हुए पूरे प्रदेश में बुरहानपुर मॉडल अपनाने पर जोर दिया। तो वहीं अब इंदौर जोन के आईजी हरिनारायणचारी मिश्र (IG Harinarayanchari Mishra) ने बुरहानपुर पुलिस के कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) के पालन कराने के अनोखे अंदाज की सराहना की है।

यह भी पढ़ें:-नवागत कलेक्टर बोले- ‘विथ यू, विदाउट यू, डेस्पाइट यू’ रतलाम में खत्म करना है कोरोना

दरअसल गत दिनों बुरहानपुर पुलिस द्वारा पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार लोढ़ा के निर्देशन में बड़ी करवाई करते हुए करीब 100 से ज्यादा लोगों को, जिन्होंने कोरोना कर्फ्यू के उल्लंघन किया था, उनके साथ नवाचार करते हुए उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के साथ योग पीटी करवाई गई। जिसमें सभी से करीब 2 घंटे तक ग्राउंड पर परेड कराई गई। जिसको लेकर रविवार को इंदौर जोन के आईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने कहा कि अलग-अलग शहरों में अलग-अलग तरीके से कोरोना कर्फ्यू का पालन कराया जा रहा है। कहीं अस्थायी जेल भेज कर तो कहीं धूप में खड़ा कर, लिखवा कर तो कहीं उठक-बैठक लगवाकर समझाइश दी जा रही है। पुलिस का मानना है कि हमारी सजा में ही आपका भला हैं और इस बात का उदाहरण संभाग के बुरहानपुर में देखने को मिला, जहां कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले लोगों को पीटी ग्राउंड ले जाया गया और लोगों से करीब 2 घंटे पीटी परेड कराई गई। हालांकि जानकारों की माने तो लंबे समय धूप में पीटी करने से लोगो का स्वास्थ्य तो ठीक रहता ही है, साथ ही उनके लंग्स भी मज़बूत होते है। इंदौर पुलिस के आईजी का मानना है लोगों को मिली सजा में स्वास्थ का भला है।

यह भी पढ़ें:-सीएम शिवराज सिंह चौहान बोले- इन जिलों पर दें विशेष ध्यान, तीसरी लहर की रखें तैयारी

बता दें कि बुरहानपुर कलेक्टर प्रवीण सिंह और पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार लोढ़ा लगातार क्षेत्र में दौरे कर कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने में सक्रिय भूमिका निभा रहे है। पूरे जिले में बॉर्डर चैकिंग भी सख्ती के साथ की जा रही है। महाराष्ट्र से प्रवेश करने वालो से पहले आरटीपीसीआर (RTPCR) की रिपोर्ट दिखाने के बाद ही प्रवेश दिया जा रहे हैं। कोरोना काल में कई लोग ऐसे भी जो प्रशासन के नियमों को धता बता रहे है, कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन कर रहे हैं। ऐसे में बुरहानपुर पुलिस को ऐसे लोगों को समझाइश और सबक देने के लिए नायाब तरीके अपनाने पड़ रहे है।