CM Shivraj Singh Chouhan ने वर्चुअल कैबिनेट मीटिंग पर लगाया अंकुश, मंत्रियों से करेंगे चाय पर चर्चा

सीएम शिवराज (CM Shivraj Singh Chouhan) ने कहा कि वह जिस दिन दौरे के लिए भोपाल से बाहर नहीं जाएंगे उस दिन वह अपने निवास पर एक मंत्री के साथ चाय पर चर्चा करेंगे।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। कोरोनावायरस के संक्रमण (corona virus infection) को देखते हुए शुरू हुई कैबिनेट की वर्चुअल बैठक (Virtual cabinet meeting) पर अब अंकुश (Fullstop) लगने वाला है। अब सभी मंत्रियों की बैठक मंत्रालय (Ministry) में होगी, साथ ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) एक-एक करके मंत्रियों के साथ अपने निवास पर चाय पर चर्चा भी करेंगे। इस बात का ऐलान सीएम शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने कोलार डैम (kolar Dam) के पास बने फॉरेस्ट गेस्ट हाउस (Forest Guest House) में आयोजित आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश (Aatmnirbhar Madhya Pradesh) पर मंथन की बैठक के दौरान किया।  सीएम शिवराज ने कहा कि वह जिस दिन दौरे के लिए भोपाल से बाहर नहीं जाएंगे उस दिन वह अपने निवास पर एक मंत्री के साथ चाय पर चर्चा करेंगे।

साथ ही आने वाले सप्ताह से वर्चुअल होने वाली कैबिनेट बैठक पर भी अंकुश लग जाएगा, इसकी जानकारी भी सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने दी। बताया जा रहा है कि अपने कार्य की पद्धति में बदलाव करने के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) द्वारा चाय पर चर्चाका का आरंभ किया जा रहा है। गौरतलब है कि मंत्रियों के साथ चाय पर चर्चा का कंसेप्ट देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का है। साल 2014 में जन संवाद के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चाय पर चर्चा का कार्यक्रम शुरू किया था।

मंत्रियों के साथ चाय पर चर्चा की शुरुआत जनता की नब्ज टटोलने के मकसद से भी की गई है। इस चर्चा के दौरान सीएम शिवराज (CM Shivraj Singh Chouhan) मंत्रियों से विभाग के कामकाज के साथ उनकी परेशानियों को लेकर चर्चा करेंगे। वहीं इस दौरान वे यह भी जानने की कोशिश करेंगे कि अफ्सर और मंत्रियों के बीच ताल मेल सही बैठ रहा है या नहीं । पहले भी मुख्यमंत्री यह निर्देश दे चुके हैं कि मंत्री और विधायक जनता का प्रतिनिधित्व करते हैं इसलिए अधिकारी उन्हीं के अधीन काम करें।

चाय के चर्चा के दौरान सीएम शिवराज (CM Shivraj Singh Chouhan) मंत्रियों से उनके विभाग का भी फीडबैक लेंगे। बताया जा रहा है कि सीएम शिवराज सीएम कार्यालय पहुंचे जिलों की प्रशासनिक स्तर पर विभाग की ग्राउंड रिपोर्ट और मंत्रियों की मौखिक रिपोर्ट को क्रॉस चेक करेंगे। सरकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाना सीएम की मंशा है और वे इसी के लिए हर तरह का फीडबैक पाना चाहते हैं। आने वाले नगर निकाय चुनाव को देखते हुए भी सीएम शिवराज जमीनी स्तर पर विकास कार्य को गति देना चाहते हैं और मंत्रियों से जानकारी लेंगे।

यह बात भी सामने आ रही है कि चाय पर चर्चा करने के पीछे का मकसद बीजेपी में शामिल सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों (Scindia Supporters) को भाजपा का अनुशासन सिखाने हो सकता है। सिंधिया समर्थक मंत्रियों के साथ सीएम शिवराज का संवाद इस रणनीति का हिस्सा हो सकता है, इस चर्चा के दौरान सीएम शिवराज (CM Shivraj Singh Chouhan) सिंध्या समर्थक और मंत्रियों को संगठन और सत्ता में कैसे तालमेल बैठाकर रखना है इस विषय में टिप्स भी दे सकते हैं।

बता देंगे साले 2017 में सीएम शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh Chouhan) द्वारा कैबिनेट बैठक में मंत्रियों को अपने घर से टिफिन लेकर आने को कहा था, जिसका पालन सभी मंत्रियों द्वारा किया गया था। मीटिंग खत्म होने के बाद टिफिन लेकर पहुंचे कैबिनेट मंत्री आर सीएम शिवराज ने आपस में बैठकर भोजन किया था।