बैंक कर्मियों ने नहीं सुनी तो युवक ने बाहर से लटकाया बैंक का शटर, आधे घंटे तक कैद रहा स्टाफ

मामले पर युवक ने बैंक कर्मियों पर मनमानी करने और उसकी बात को ना सुनने का आरोप लगाया है।

दमोह, आशीष कुमार जैन। अक्सर लोगों को बैंक स्टाफ के व्यवहार से नाराज होना पड़ता है और अमूमन बैंकों के कर्मचारियों की शिकायतें भी सामने आती हैं,  लेकिन फिर भी आप मन को समझा कर शांत रह जाते हैं। लेकिन दमोह से एक ऐसा मामला सामने आया है जब बैंक वालों की कारगुजारियों से नाराज एक युवक ने बैंक के अंदर स्टाफ को ही बंधक बना दिया। जब पुलिस आई तब जाकर स्टाफ बैंक से बाहर निकल पाया।

ये भी पढ़ें- Road Accident : कुत्ते को बचाने के चक्कर में टवेरा और ट्रक की जोरदार भिड़ंत, 4 की मौत, 6 घायल

दरअसल मामला दमोह जिले के सिग्रामपुर का है जहां प्रदीप झरिया नाम का युवक शुक्रवार की शाम मध्य ग्रामीण बैंक में खाता खुलवाने आया,  लेकिन बैंक स्टाफ ने उसकी नहीं सुनी। फिर क्या था प्रदीप को गुस्सा आया और बैंक के मेन गेट का शटर बाहर से लगा दिया और बाहर खड़े होकर चिल्लाने लगा। युवक की इस हरकत से सब हैरत में पड़ गए। बैंक स्टाफ ने पुलिस को इसकी सूचना दी तब जाकर पुलिस वालों की मदद से बैंक का शटर खुला और स्टाफ बाहर आया। इस हरकत को अंजाम देने के बाद भी प्रदीप भागा नहीं बल्कि पुलिस वालों को अपने साथ हुए व्यवहार की शिकायत उसने दर्ज कराई।

ये भी पढ़ें- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की बड़ी घोषणा- मप्र में जल्द लॉन्च होगी नई योजना, दिए निर्देश

इसपर बैंक मैनेजर का कहना है कि युवक बैंक का समय खत्म होने के बाद आया था इस वजह से उसे मना किया गया। मामला पुलिस थाने तक पहुंच गया है जहां दोनों पक्षों ने शिकायत दर्ज कराई है। मामले पर पुलिस अधिकरियों का कहना है कि जांच के बाद मामले में कार्रवाई की जाएगी।