दमोह : भाजपा की कलह आई सामने, केन्द्रीय मंत्री ने ही लगाए आरोप

केंद्रीय मंत्री और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ने पार्टी नेताओ पर लगाए गम्भीर आरोप

indore

दमोह, आशीष कुमार जैन। मध्यप्रदेश में भाजपा के अंदर चल रही उठापटक की अटकलों के बीच एक बड़ा मामला सामने आया है, जब भाजपा के बड़े नेता अपनी ही पार्टी के नेताओं शिवराज सरकार के मंत्री को निशाना बनाते हुए खुलकर आरोप लगा रहे हैं और आरोप लगाने वाले नेताओं में मामूली नेता नही बल्कि मोदी सरकार के मंत्री है।

यह भी पढ़ें… पार्षद अपहरण मामले में अब नई कहानी आई सामने, जानें

सूबे में हुए पंचायत चुनाव में जिला पंचायत के निर्वाचन में अध्यक्ष पद पर दमोह से भाजपा अपना उम्मीदवार नही उतार पाई और प्रदेश में इस बात को लेकर पार्टी चर्चाओं में रही, निशाने पर दमोह से सांसद और केंद्रीय जलशक्ति राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल रहे। लेकिन मौज़ूदा हालातो का ठीकरा मंत्री पटेल और उनके साथी नेताओं ने अपनी ही पार्टी संगठन और नेताओं पर फोड़ दिया। दरसल भाजपा ने दमोह से जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए पूर्व सांसद चन्द्रभान सिंह की पत्नि को उम्मीदवार बनाया था लेकिन उन्होंने अध्यक्ष पद के लिए पर्चा तक दाखिल नही किया और कांग्रेस ने यहां जीत दर्ज कर ली। चुनाव में भाग न लें पाने के लिए पूर्व सांसद ने जो दलील दी पहले आप वो सुनिए।

चन्द्रभान सिंह ( पूर्व सांसद दमोह)

यह भी पढ़ें… चोरों ने दिनदहाड़े चोरी की वारदात को दिया अंजाम, पुलिस जांच में जुटी

पूर्व सांसद के इस बयान के बाद खलबली मच गई और बात किसी को हजम नही हुई। मामला तूल पकड़ा तो शनिवार को विशेष रूप से केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल दिल्ली से भोपाल पहुंचे और उन्होंने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वी ड़ी शर्मा से मुलाकात कर अपनी बात रखी। रविवार को केंद्रीय मंत्री पटेल ने दमोह में एक प्रेस कांफ्रेंस बुलाई और इसमे उनके बेहद करीबी दमोह भाजपा के कद्दावर नेता और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल ने कई राज खोलने के साथ पार्टी संग़ठन, पूर्व मंत्री जयंत मलैया, पूर्व विद्यायक लखन पटेल के साथ शिवराज सरकार के मंत्री गोपाल भार्गव को इस के लिए दोषी बताया। गंभीर आरोप लगाते हुए शिवचरण ने साफ कहा कि इन सबके षड़यंत्र की वजह से भाजपा का उम्मीदवार मैदान में नही आ पाया।

शिवचरण पटेल ( पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष दमोह)

केंद्रीय मंत्री की प्रेस कांफ्रेंस में ही पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष इस तरह के आरोप लगाते रहे मीडिया के पूछने पर उन्होंने सारे समीकरण भी साफ किये और बताया कि कैसे भाजपा का अध्यक्ष बनता। बात सिर्फ पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष तक सीमित नही रही बल्कि खुद केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने दमोह के इस घटनाक्रम पर शिवचरण पटेल की बात का समर्थन किया। मंत्री पटेल के मुताबिक चुनाव में भाजपा नेताओं ने षड्यंत्र किया और उन्होंने आरोप भी लगाए। उनके मुताबिक इस बात की शिकायत उन्होंने प्रदेश नेतृत्व से खुद मिलकर की है।

प्रहलाद पटेल ( केंद्रीय जलशक्ति राज्यमंत्री)

दमोह का ये घटनाक्रम सूबे में हलचल मचा सकता है। क्योंकि आरोपो के घेरे में आने वाले नेताओं में जहां जिले का संगठन, (भाजपा जिला अध्यक्ष) पूर्व मंत्री पूर्व विधायक है वहीं इसमे शिवराज सरकार के पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव भी है। ऐसे में साफ है कि भाजपा अंदरूनी कलह के दौर आए गुजर रही है और अब पार्टी और मुख्यमंत्री इस मामले में क्या संज्ञान लेते हैं देखना होगा।