दतिया, सत्येन्द्र सिंह रावत

जिले के सेवड़ा न्यायालय से स्वामित्व और अधिपत्य के मामले में सुनवाई के पश्चात किसान के पक्ष में किए गए आदेश के बाद भी दबंगों द्वारा काश्तकार किसान को परेशान किया जा रहा है। जिसके चलते दबंगों द्वारा किसान की जमीन में लगी तीली की फसल में कीटनाशक का छिड़काव कर नष्ट कर दिया गया।

मामला सेवड़ा अनुभाग ग्राम जुझारपुर का है, जहां किसान की जमीन के मामले में न्यायालय का आदेश उसके हक में किया गया है। उक्त जमीन पर किसान ने तीली की फसल बोई थी। जिसको दबंगों द्वारा कीटनाशक का छिड़काव कर नष्ट कर दिया गया है। जिससे प्रार्थी किसान को फसल की क्षति पहुंचने के साथ हजारों रुपये का नुकसान हुआ है। जिस पर किसान ने थाना धीरपुरा में शिकायत की है, लेकिन थाना धीरपुरा में एसडीओपी के हस्तक्षेप के कारण एफआईआर नहीं लिखी गई है। सुनवाई नहीं होने के चलते प्रार्थी किसान पूरन कुशवाहा पुत्र हरभजन कुशवाह निवासी जुझारपुर ने जिला मुख्यालय पहुंचकर पुलिस अधीक्षक के नाम आवेदन देकर उक्त आरोपियों के विरुद्ध आपराधिक मामला दर्ज किए जाने की गुहार लगाई है।

जानकारी के अनुसार प्रार्थी किसान पूरन कुशवाहा ने बताया है कि उसकी आराजी कृषि भूमि सर्वे क्रमांक 934 एवं 945 स्थित ग्राम जुझारपुर की जमीन का स्वामित्व और अधिपत्य का प्रकरण सेवड़ा न्यायालय में चल रहा था। जहां न्यायालय से प्रार्थी के पक्ष में स्वामित्व और अधिपत्य निर्णय किया गया है। उसके बावजूद भी तहसील इंदरगढ़ न्यायालय द्वारा स्थगन जारी किया गया है और वही आरोपी विक्की, रवि, कवि, एवं शशी कमरिया निवासी जुझारपुर उक्त किसान को तरह तरह से परेशान करने में लगे हुए हैं। जिसकी शिकायत प्रार्थी किसान द्वारा पुलिस प्रशासन एवं राजस्व विभाग से निरंतर की जा रही है, लेकिन किसान की शिकायत पर पुलिस विभाग एवं राजस्व विभाग कतई ध्यान नहीं दे रहा है और सुनवाई की जा रही है।

सुनवाई नहीं होने से किसान न्याय पाने हेतु पुलिस की चौखट एवं जिला प्रशासन की चौखट पर एड़ियां रगड़ते हुए परेशान होने में लगा हुआ है। वही किसान पूरन कुशवाहा ने बताया है कि वर्तमान में उक्त आराजी सर्वे नंबर 934 945 पर कोई प्रकरण किसी भी न्यायालय में लंबित नहीं है। प्रार्थी के विगत दिनांक 24 जुलाई को तहसीलदार, गिरदावर पटवारी एवं थाना धीरपुरा द्वारा कब्जा मौका पर जलाया गया है। उसी आराजी जमीन में प्रार्थी किसान ने बाजरा, तीली की फसल हुई थी।

इस जमीन पर विगत 21 अगस्त कि रात करीब 7-8 बजे के लगभग दबंग व्यक्ति विक्की, रवि, कवि, शशि कमरिया निवासी ग्राम जुझारपुर ने मिलकर खेत में लगी फसल पर कीटनाशक केमिकल का छिड़काव कर फसल को नष्ट कर दिया। जब फसल नष्ट की जा रही थी, प्रार्थी किसान के द्वारा दबंग व्यक्तियों को रोका गया। जिस पर दबंग व्यक्तियों ने किसान के साथ गाली गलौज एवं मारपीट करते हुए जान से मारने की धमकी दे डाली और खेत में एक भी दाना पैदा नहीं करने तथा जमीन छोड़ने तक की बात कही।

कीटनाशक का छिड़काव करने से उक्त किसान को करीब 30,000 से अधिक का नुकसान हुआ है। फसल को नष्ट करने की शिकायत थाना धीरपुरा जाकर प्रार्थी द्वारा गई किंतु वहां पर उपस्थित एसडीओपी के हस्तक्षेप से रिपोर्ट नहीं लिखी गई। इसके बाद से दबंग व्यक्तियों के हौसले काफी बुलंद है और आए दिन उक्त किसान एवं उसके परिवार को जान से मारने की धमकी और तरह-तरह से परेशान किया जा रहा है। जिसके चलते किसान पूरन कुशवाहा ने पुलिस अधीक्षक के नाम एक आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है और आरोपी गणों के विरुद्ध आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग की है।