हैवान को मिलेगी सख्त सजा, बेटी को मिलेगा न्याय, गुना मामले में ज्योतिरादित्य सिंधिया का पोस्ट, आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज

गुना में 23 वर्षीय युवती के साथ दरिंदगी और हैवानियत का मामला सामने आया है। जिसे लेकर ज्योतिरादित्या सिंधिया ने सोशल मीडिया पर पोस्ट साझा किया है।

Manisha Kumari Pandey
Updated on -
guna rape case

Guna News: गुना शहर के नानाखेड़ी क्षेत्र में दरिंदगी का मामला सामने आया है। जहां 23 वर्षीय युवती के साथ उसके पड़ोसी युवक ने एक महीने तक घर में बंधक बनाकर दुष्कर्म किया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने पोस्ट साझा किया है। उन्होंने आरोपी सख्त सजा देने की मांग की है।

सिंधिया ने कही ये बात

सिंधिया ने X पर कहा, ” गुना की एक बेटी के साथ बर्बरता और हैवानियत का समाचार विचलित कर देने वाला है। आशा करता हूँ कि हमारी इस बेटी को जल्द से जल्द न्याय मिल सके। अपराधी को सख्त सजा मिले ताकि कोई हैवान हमारी बहन-बेटियों के सम्मान से खिलवाड़ करने का दुस्साहस करने की सोच भी न पाए।”

Continue Reading

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"