शहर के एक संस्था ने छेड़ा अभियान “घायल का वीडियो ना बनाओ हॉस्पिटल पहुंचाओ”

ग्वालियर। पिछले कुछ दिनों से   लोगों की संवेदनशीलता कम होती जा रही है। सड़क पर घायल लोगों को अस्पताल  पहुँचाने की जगह लोग उसकी वीडियो बनाने में जुट जाते है। ऐसे ही संवेदनहीन लोगों में संवेदनशीलता जगाने के लिए ग्वालियर की एक सामाजिक संस्था ने “घायल का वीडियो न बनाओ हॉस्पिटल पहुँचाओ” मुहिम शुरू की है। 

मानव अधिकार प्रोटेक्शन संस्था के प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र झा के मुताबिक उनकी संस्था  पिछले लम्बे समय से सामाजिक जन उत्थान से जुड़े काम कर रही है। संस्था ने पिछले साल सोशल मीडिया मीडिया के दुरुपयोग रोकने के उद्देश्य से एक अभियान चलाया था अब संस्था ने “घायल का वीडियो ना बनाओ हॉस्पिटल पहुँचाओ” शुरू की है। संस्था शहर के हर चौराहे पर हाथ में बैनर लेकर लोगों को इस बात के जागरूक कर रहे हैं कि वे सड़क पर घायल व्यक्ति को देखें तो उसका वीडियो नहीं बनायें बल्कि उसकी मदद कर उसे हॉस्पिटल पहुंचा दें। फूलबाग चौराहे से अभियान की शुरुआत के मौके पर कांग्रेस विधायक  मुन्नालाल गोयल व ट्रैफिक डीएसपी नरेश अन्नोटिया मौजूद थे। संस्था के सदस्यों ने वाहन चालकों को रोककर समझाइश दी कि वे हेलमेट लगाएं, यातायात के  नियमों का पालन करें और यदि सड़क पर कोई घायल व्यक्ति पड़ा मिलता है तो उसे तत्काल हॉस्पिटल पहुंचाएं उसका वीडियो ना बनाएं । इस अवसर पर विधायक मुन्नालाल गोयल ने कहा कि मानव अधिकार प्रोटेक्शन की पहल सराहनीय है लोगों को जन जागरूक करने के लिए यह मुहिम साकार साबित होगी। ट्रैफिक डीएसपी नरेश अन्नोटिया ने कहा कि मानव अधिकार प्रोटेक्शन की यह मुहिम जन जागरूकता लाने के लिए महत्वपूर्ण है।  हमारी पुलिस ऐसे अभियान में कंधे से कंधा मिलाकर लोगों को जागरूक करने में संगठन का सहयोग प्रदान करेगी। संस्था ये अभियान रोज शहर के किसी एक चौराहे पर चलाएगी।