वन विभाग की टीम पर फायरिंग करने वाले पत्थर माफिया बेसुराग, पुलिस ने की जंगल में सर्चिंग

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के निर्देश के बाद माफिया के खिलाफ जारी कार्रवाई के बावजूद ग्वालियर चंबल (Gwalior Chambal) में माफिया बेखौफ है। रेत माफिया (Sand mafia) द्वारा पुलिस पर हमले की खबर के बीच अब पत्थर माफिया द्वारा हमले की खबर सामने आई है। पत्थर माफिया (Stone mafia) ने वन विभाग (Forest department)और SAF के जवानों पर जमकर फायरिंग की और वन विभाग द्वारा पकड़ी गई JCB मशीन छुड़ा कर ले गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जंगल में सर्चिंग शुरू कर दी है।

तिघरा थाना क्षेत्र ले लखनपुरा वन चौकी के क्षेत्र में जंगल में फर्शी पत्थर निकाल रहे माफिया पर कार्रवाई करने गए वन विभाग के अमले पर पत्थर माफिया ने हमला कर दिया। दबंग पत्थर माफिया ने फायरिंग (Firing) कर दी, जिससे जान बचाते हुए वन विभाग के अमले को वापस लौटना पड़ा। डीएफओ (DFO) अभिनव पल्लव ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़  से बात करते हुए बताया कि मुखबिर से रात को साढ़े बारह बजे सूचना मिली थी कि लखनपुरा क्षेत्र में अवैध पत्थर खनन किया जा रहा है। रात को ढाई बजे के करीब वन विभाग का अमला SAF की टीम के साथ जब जंगल में पहुंची तो वहाँ एक JCB पत्थर निकाल्टीबामिली । जब वन विभाग की टीम JCB ले जाने लगी तो माफिया ने फायरिंग शुरू कर दी। उन्होंने कहा कि करीब 15 से 20 राउंड फायरिंग पत्थर माफिया ने की । गोलियां चलते ही वन विभाग की टीम को वापस लौटना पड़ा। घटना के बाद हमने विभाग को निर्देश दिये गए हैं कि जब भी जंगल में माफिया के खिलाफ कार्रवाई के लिए जाये पुलिस को सूचित कर साथ लेकर जाएं। हमले की सूचना पुलिस को दे दी गई है। उन्होंने कहा कि एसपी अमित सांघी से भी बात हुई है। एडिशनल एसपी (Additional SP) और तिघरा थाने के फोर्स ने जंगल में सर्चिंग की है लेकिन माफिया का कोई सुराग नहीं मिला है।