इंदौर में क्रिप्टो करेंसी के जरिए हुई 2 लाख की ठगी, क्राइम ब्रांच में मामला दर्ज

indore

Indore News: मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में ऑनलाइन ठगी का एक मामला सामने आया है। जहां सोशल साइट्स के जरिए ठगों ने के एक शख्स से 2 लाख रुपए की ठगी की है। वहीं फरियादी ने अपने साथ हुई ठगी का मामला इंदौर क्राइम ब्रांच में दर्ज कराया है।

क्रिप्टो करेंसी में इंवेस्टमेंट के नाम पर हुई ठगी

इंदौर क्राइम ब्रांच में सोशल मीडिया के जरिए ठगी का मामला दर्ज हुआ है। जिसमें ठगों द्वारा क्रिप्टो करेंसी में इंवेस्टमेंट करने के मामले में हाइटेक ठगी की है। वहीं क्राइम ब्रांच ने मामला दर्ज कर कार्रवाई को शुरू कर दी है। बता दें फरियादी ने क्रिप्टो करेंसी यूएसजीटी खरीदी थी। जिसे लेकर कुछ दिनों पहले एक्सचेंज बिजनेस से खरीदने के लिए मैसेज आया था। जहां निवेश ने डील को 2 लाख रुपए में मेल के माध्यम से तय कर लिया गया था। वहीं रुपए जाने पर फरियादी को पता चला कि वह साइबर ठगी का शिकार हो गया है।

प्रशासन ने लोगों को होशियार रहने की दी हिदायत

इंदौर क्राइम ब्रांच के डीसीपी निमिष अग्रवाल ने इस पूरे मामले को लेकर मीडिया से बातचीत की। जिसमें उन्होंने सोशल साइट पर की जा रही ठगी से होशियार रहने और इन्वेस्ट करने से पहले उस साइट की पूरी जांच लेने की हिदायत दी है।

क्रिप्टो करेंसी वाले खातों को सीज कर रहा प्रशासन

इस मामले में पहली बार पुलिस द्वारा क्रिप्टो करेंसी जिन खातो में डाली गई है उन बैंक खातों को भी सीज करने का काम लगातार किया जा रहा है। इसके साथ ही कई बैंक खातों को पुलिस सीज कराकर ठगी के रुपए को वापस दिलाने का प्रयास कर रही है।

इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।

Other Latest News