इंदौर में डेंगू का कहर जारी, आंकड़ा 600 पार, एक की मौत !

2009 के रिकॉर्ड में 500 से ज्यादा से ज्यादा मरीज पाये गए थे वहीं इस वर्ष याने ठीक 12 साल बाद, 2021 में डेंगू के मरीजो का आंकड़ा 600 के पार पहुंच गया है और एक मौत भी इस वर्ष हुई है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। कोरोना (Corona) और ब्लैक फंगस (Black Fungus) के सताये इंदौर (Indore) में अब डेंगू (Dengue) ने भी तेजी से कहर बरपाना शुरू कर दिया है। आलम ये है कि खतरनाक और जानलेवा माने जाने वाले कोरोना के 32 मरीजो का ईलाज वर्तमान में इंदौर के अलग-अलग अस्पतालों में जारी है। वहीं दूसरी ओर डेंगू ने ऐसा कहर बरपाया है कि शहर के बाशिंदे बुखार, सर दर्द से लेकर शरीर में प्लेटलेट्स कम होने जैसी समस्याओं का सामना कर रहे है। इंदौर में स्थिति ये है कि निजी क्लीनिकों में लंबी लाइन लगी है वही पैथोलॉजी लैब्स में आरबीसी से लेकर डेंगू की जांच के लिए लोगो की कतार देखी जा रही है।

यह भी पढ़ें…दिल तो बच्चा है जी: 62 साल के पिता को 59 साल की प्रेमिका के साथ होटल में बेटे ने पकड़ा, जमकर हुआ हंगामा

दरअसल, इंदौर में डेंगू को लेकर हालात बेकाबू हो जा रहे है, बता दें कि 2009 के रिकॉर्ड में 500 से ज्यादा से ज्यादा मरीज पाये गए थे वहीं इस वर्ष याने ठीक 12 साल बाद, 2021 में डेंगू के मरीजो का आंकड़ा 600 के पार पहुंच गया है और एक मौत भी इस वर्ष हुई है। ऐसे में हालातों पर स्वास्थ्य विभाग की नजर है और लोगो को समझाइश दी जा रही है कि घरो में कूलर से अन्य स्थानों पर पानी एकत्रित न होने दे क्योंकि डेंगू के मच्छर साफ पानी मे भी आसानी से पनपते है। जिले के मलेरिया अधिकारी और विशेषज्ञ डॉ. दौलत पटेल की माने तो डेंगू के बढ़ने की वजह मौसमी परिवर्तन है, ऐसे में लोगो को खास ध्यान रखने की हिदायत भी उन्होंने दी है।

फिलहाल, इंदौर में डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ रही है वही प्रशासन ने इसके लिए एक अभियान भी चलाया था जो राजनीतिक और प्रशासनिक विवाद के बीच कही खो गया था। फिलहाल, लोगो को उम्मीद है कि कोरोना के काल की ही तरह डेंगू का मौसम भी करवट लेगा और स्थितियों में सुधार होगा।

यह भी पढ़ें…Morena News : नकली मावा और पनीर बनाने वाली दो फैक्ट्रियों पर खाद्य विभाग का छापा, 2 पर मामला दर्ज