इंदौर : अंधेकत्ल का पर्दाफाश, कोरोना टेस्ट की बात कहकर की थी युवक की हत्या

बड़ी बेरहमी से की गई हत्या का खुलासा इंदौर की देपालपुर पुलिस ने 3 दिन के भीतर ही कर दिया। घटना, इंदौर के देपालपुर थाना क्षेत्र के ग्राम मुंडला की है यहां पुलिस को 7 अक्टूबर को सूचना मिली थी कि ग्राम मुंडला राड पर पुलिया के नीचे एक युवक की खून से सनी लाश पड़ी है जिसके बाद तत्काल मौके पर देपालपुर टीआई और क्षेत्रीय एसडीओपी पहुंचे।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (Indore) में कोरोना काल में एक युवक हत्या की वजह भी कोरोना ही सामने आ रहा है। बता दे कि इस घटना मे कोरोना (Corona) न तो मृतक को था और ना ही उसे मारने वालो को बावजूद इसके कारण, कोरोना ही बना है। इंदौर की देपालपुर थाना पुलिस (Police) ने 6 अक्टूबर को एक अंधे कत्ल का पर्दाफाश कर हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक केवल कोरोना टेस्ट (Corona test) करवाने की बात विवाद की जड़ बनी और उसके बाद हुए विवाद में आरोपियों ने मृतक की हत्या कर उसे पुलिया के नीचे फेंक दिया।। बड़ी बेरहमी से की गई हत्या का खुलासा इंदौर की देपालपुर पुलिस ने 3 दिन के भीतर ही कर दिया। घटना, इंदौर के देपालपुर थाना क्षेत्र के ग्राम मुंडला की है यहां पुलिस को 7 अक्टूबर को सूचना मिली थी कि ग्राम मुंडला राड पर पुलिया के नीचे एक युवक की खून से सनी लाश पड़ी है जिसके बाद तत्काल मौके पर देपालपुर टीआई और क्षेत्रीय एसडीओपी पहुंचे।

एक खून से सना डंडा पड़ा मिला

इसके बाद इंदौर पुलिस ने मृतक की पहचान के लिए आस पास के लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि मौके जिस युवक लाश है वो शाहिद अली निवासी ग्राम मुंडला का रहने वाला है। जिस वक्त पुलिस मौके पर पहुंची थी उस वक्त युवक के सिर और कान के हिस्से में चोंटे दिखाई दी वही पास में एक खून से सना डंडा पड़ा मिला था। जिसके बाद पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर बदमाशो की तलाश शुरू कर दी। पुलिस टीम की कड़ी मेहनत और मुखबिरों से मिली जानकारी में पता कि विपुल और कुणाल नामक युवकों ने वारदात को अंजाम दिया है जिसके बाद पुलिस ने विपुल और कुणाल निवासी ग्राम बड़ोनिया को गिरफ्तार कर कड़ी पूछताछ शुरू की तो हैरान कर देने वाली वजह सामने आई।

कोरोना टेस्ट की बात पर मृतक ने उनसे गाली गलौच भी की थी

पूछताछ में पता चला कि शाहिद अली नामक युवक हर रोज मॉर्निंग वॉक के लिए ग्राम मुंडला से ग्राम बहरिया तक जाता था और आरोपियों द्वारा उसे छेड़ा जाता था कि वो इतना घूमता है तो कही उसे कोरोना तो नही है इसलिए वो अपना कोरोना टेस्ट करा ले। इसी तरह चिढ़ाने की बात पर आखिरकार 6 तारीख की रात को जब आरोपी कुणाल और विपुल आमने सामने हुए तो इसी बात को लेकर विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों आरोपियों ने बमूल की लकड़ी से शाहिद के साथ मारपीट की और बाद में मौके से भाग खड़े हुए। आरोपियों ने ये भी बताया कि कोरोना टेस्ट की बात पर मृतक ने उनसे गाली गलौच भी की थी।

मृतक की पत्नी की मानसिक स्थिति ठीक नही है
इंदौर एस. पी. महेशचंद्र जैन ने बताया कि मामले में दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वही एस.पी.ने 5 हजार रुपए के नगद इनाम की घोषणा भी पुलिस टीम के लिए की है। अंधे कत्ल के पर्दाफाश के दौरान पुलिस जांच में ये बात भी सामने आई कि मृतक की पत्नि की मानसिक स्थिति ठीक नही है जिसके चलते पुलिस ने पीड़ित पत्नि को आर्थिक सहायता मिले इसके लिए राज्य शासन को प्रस्ताव भेजेगी। हत्या के इस अनूठे मामले में ये बात तो साफ हो गई है कि कोरोना को लेकर छीटाकंशी भी बढ़ रही है जिसके परिणाम हत्या के रूप में सामने आ रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here