कोरोना कर्फ्यू : पुलिस ने लोगों को बनाया मेंढक, फिर टर्र-टर्र की आवाज निकालते हुए भेज दिया अस्थाई जेल

कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) के दौरान बेवजह सड़कों घूम रहे लोगों को इंदौर की कनाड़िया ने मेंढक बनाया और टर्र-टर्र की आवाज निकालते हुए अस्थाई जेल भेज दिया।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। प्रदेश भर में कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) लगा हुआ है। सरकार और प्रशासन द्वारा लगातार लोगों से मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करने और अपने घरों में रहने की अपील की जा रही है। वहीं पुलिस प्रशासन दिन-रात कोरोना कर्फ्यू का पालन कराने में लगी हुई है। लेकिन इंदौर शहर में पुलिस प्रशासन को लोगों का सहयोग नहीं मिलता नजर आ रहा है। जहां मंगलवार को कनाड़िया थाना क्षेत्र में सड़कों पर बेवजह घूम रहे लोगों को पुलिस ने पहले मेंढक बनाया और टर्र-टर्र की आवाज निकालते हुए अस्थाई जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें:-रतलाम में चल रहा था नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन बनाने का गोरखधंधा, सात आरोपी गिरफ्तार

मंगलवार को यूं तो समूचे शहर में पुलिस सतर्क दिखी लेकिन कनाड़िया थाना क्षेत्र का नजारा कुछ अलग ही था। यहां पुलिस और प्रशासन ने संयुक्त कार्रवाई कर बेवजह घूमने वालो पर शिकंजा कसते हुए उनको गिरफ्तार किया और फिर अस्थायी जेल भेज दिया। हालांकि पकड़े गए लोगो मे वो सब्जी वाले भी शामिल थे जो जनता कर्फ्यू के नियमो को धता बताकर एक ही स्थान पर रुककर सब्जी बेच रहे थे। लिहाजा, कनाड़िया पुलिस सबसे पहले ऐसे लोगो को थाने ले आई और फिर थाने से निकलते ही सभी को पहले मेंढक बनाया गया और टर्र टर्र करते गिरफ्त में आये 15 लोग मेंढक दौड़ लगाते दिखे। एक-एक कर मेंढक दौड़ लगाते हुए सभी लोग एक के बाद एक बस में बैठ गए जिसके बाद सभी को अस्थाई जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें:-डॉक्टर्स ने मांगी अस्पतालों में पुलिस सुरक्षा, एमटीए ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र

क्षेत्र की नायब तहसीलदार दृष्टि चावे ने बताया कि जनता कर्फ्यू के बीच आज कार्रवाई करते हुए 15 लोगों को एक दिन के लिए अस्थाई जेल भेजा गया है। वही उन्होंने बताया कि अब तक कनाड़िया क्षेत्र में कुल 30 लोगो पर कार्रवाई की जा चुकी है। हालांकि प्रशासनिक अधिकारियों ने जनता से अपील की है कि कोरोना संकट और संक्रमण से बचने के लिए के लोग घरों में रहे और बहुत जरूरी मेडिकल इमरजेंसी जैसी बात हो तो ही घर से निकले। यदि कोई भी बेवजह बाहर घूमता पाया गया तो उन पर इसी तरह की कार्रवाई जारी रहेगी।