इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। देश सहित मध्यप्रदेश(Madhyapradesh) में कोरोना(Corona) के लगातार बड़े मामले सामने आ रहे हैं। बढ़ते संक्रमण को लेकर एक तरफ जहां राज्य सरकार ने सख्त पाबंदियां लगाई है। वहीं दूसरी तरफ ट्रेन, बसों के परिचालन को भी बंद रखा गया है। इसी बीच एक खबर के मुताबिक सितंबर(September) के पहले सप्ताह से ट्रेन(Train) का परिचालन शुरू किया जा सकता है। पश्चिम रेलवे बोर्ड(Western Railway Board) इसको लेकर तैयारियां में जुट गया है। वहीं ट्रेनों की बुकिंग(Booking) की घोषणा संचालन के दो-तीन दिन पहले शुरू की जाएगी।

दरअसल शुक्रवार को पश्चिम रेलवे के रतलाम मंडल(Ratlam Division of Western Railway) ने मुख्यालय को सप्ताह में 2 दिन 6 स्पेशल ट्रेन(Special Train) चलाने का प्रस्ताव भेजा है। इंदौर पटना एक्सप्रेस(Indore Patna Express), इंदौर-गांधीनगर एक्सप्रेस(Indore-Gandhinagar Express), इंदौर-बैरावल(Indore-Bairaval), महू-इंदौर-भोपाल इंटरसिटी एक्सप्रेस(Mhow-Indore-Bhopal Intercity Express) और इंदौर-गांधीधाम एक्सप्रेस इन छह स्पेशल ट्रेनों की मांग की गई है। यह जानकारी शुक्रवार को पश्चिम रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक विनीत गुप्ता ने प्रेस वार्ता करके दी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के अलावा जिन अन्य 2 राज्यों के लिए ट्रेन का संचालन किया जाना है। वहां से अनुमति मिलने के बाद ही ट्रेन का परिचालन शुरू किया जा सकता है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि ट्रेन को पहले ही तरह से अन्य श्रेणियों में बांटा जाएगा। जिसमें आरक्षित(Reserved) और अनारक्षित(Unreserved) कुछ मौजूद होंगे। इसके साथ ही एसी कोच(AC Couch) में सफर करने वाले यात्रियों को कंबल व कपड़े की चादर नहीं मिलेगी। उन्हें डिस्पोजल चादर खरीदनी होगी और इसके लिए उन्हें भुगतान करना होगा।

बता दे कि कोरोना के चलते संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन लगने के बाद ट्रेन का परिचालन बंद किया कर दिया गया था। जिसके बाद केंद्र सरकार द्वारा कुल 200 स्पेशल ट्रेनों और 30 यात्री ट्रेनों का परिचालन शुरू किया गया था अब रेलवे बोर्ड इन ट्रेनों की संख्या बढ़ाने पर विचार कर रहा है। जिसके लिए कई राज्यों से प्रस्ताव मांगे गए हैं। अब देखना है कि सितंबर माह के पहले सप्ताह से यात्री ट्रेनों का संचालन शुरू किया जाएगा या इसके भी और आगे बढ़ने की उम्मीद है। हालांकि देश में अब परीक्षाओं का दौर शुरू होने वाला है। जिसको लेकर उम्मीद की जा सकती है कि रेलवे बोर्ड जल्द ही ट्रेनों के संचालन पर बड़ा निर्णय ले सकती है।