these-guidelines-were-given-to-the-common-people-by-police-for-beware-olx-fraud

इंदौर| ऑनलाइन ठगी से जुड़े मामलों पर रोक लगाने के लिए पुलिस ने कमर कस ली है। आए दिन भ्रामक विज्ञापनों के जरिये लोगो से भुगतान करा लेने वाले बदमाशो पर अब पुलिस की कड़ी निगाह बनी हुई है। दरअसल, ये सब पुलिस द्वारा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि इंदौर क्राईम ब्रान्च की सायबर अपराध अनुसंधान टीम को वर्ष जनवरी 2018 से मार्च 2019 के मध्य ओएलएक्स विज्ञापन साईट से संबंधित कुल 104 शिकायतें वरिष्ठ कार्यालयों, अपराध शाखा कार्यालय तथा सिटिज़न कॉप के माध्यम से प्राप्त हुई है। जिनकी जांच में पता चला है कि दौरान  कुछ  ठगों द्वारा ओएलएक्स पर महंगे मोबाइल फोन, दो पहिया, चार पहिया वाहनों के फर्जी लुभावने विज्ञापन देकर पहले तो आम लोगो को विश्वास में लिया जाता है और फिर भारतीय  सैनिक/अर्ध्यसैनिक बलों के पहचान से संबंधित दस्तावेजों तथा पहचान पत्रों का दुरुपयोग कर छलपूर्वक उनसे भिन्न-भिन्न समस्याओं का हवाला देकर टुकड़ों में अधिक से अधिक राशि ई – वॉलेट से प्राप्त कर ली जाती जिसमे पेटीएम अथवा बैंक खातों में एडवान्स राशि हासिल कर ली जाती है प्राप्त कर ली जाती है इसके बाद विज्ञापन में दिखाई गई वस्तु आवेदकों तक न पहुंचा कर उनके साथ धोखा धड़ी की जाती है ।

पुलिस को जांच में पता चला है कि लोगो को पहले विश्वास दिलाया जाता हैं कि क्रय की गयी वस्तु आपके पास ओवरनाइट कुरियर के माध्यम से अगले 24 घण्टो में पहुंचा दी जाएगी ताकि जल्द से जल्द ज्यादा से ज्यादा राशि  ई – वॉलेट्स अथवा बैंक के खाते में जमा करा दे । शिकायतों में जांच के दौरान यह पाया गया है कि जिन ई वॉलेट्स तथा बैंक के खातों में राशि जमा की गयी हैं वे मुख्यतः राजस्थान  के भरतपुर जिले की डीग, कमान, खोह तेहसील तथा अल्वर जिले से संबंधित हैं। शिकायतों की जांच के दौरान  ठगी में लिप्त पाये गये लगभग 250 अलग अलग ई – वॉलेट्स और 225 विभिन्न बैंकों के खातों को बन्द कराकर पुलिस ने सायबर ठगों की कमर तोड़ी दी। पुलिस ने कुल 75 शिकायतों पर थाना अपराध शाखा में अपराध पंजीबद्ध किये है और जल्द ही पुलिस अपराधियो तक पहुंच जाएगी।जिसमें लगातार विवेचना की जाकर आरोपियों की पतारसी के प्रयास किये जा रहे हैं। क्राइम ब्रांच अब ओ एल एक्स जैसी साइट्स से फर्जी विज्ञापनों को हटा रही है साथ पुलिस ने आम जनता आशा की है क्रय अथवा विक्रय करते समय इन बातों ख्याल रखे। 

ओ एल एक्स पर कोई भी  वस्तु खरीदते समय राशी ई वॉलेट द्वारा एडवान्स में न दें ।

यदि कोई व्यक्ति ओ. एल एक्स पर किसी भी वस्तु का विक्रय करते समय सैनिक/अर्ध्यसैनिक बलों के सुरक्षाकर्मियों के पहचान से संबंधित दस्तावेज तथा पहचान पत्र पेश करता है तो उस पर तुरन्त विश्वास न करें तथा जांच पड़ताल कर ही खरीदे।

किसी भी वस्तु को ओ एल एक्स पर क्रय करते समय जहां तक सम्भव हो आमने सामने पब्लिक प्लेस पर मिलकर ही खरीदे।

ओ एल एक्स पर किसी भी वस्तु का क्रय करते समय विक्रेता की WhatsApp live location प्राप्त करने का प्रयास करें ।

ओ एल एक्स पर किसी भी वस्तु का क्रय करते समय विक्रेता के साथ हुई whatsapp  चैट पर विश्वास न करें ।  

ओ एल एक्स वस्तु को क्रय करते समय विक्रेता द्वारा दी गयी किसी भी प्रकार की कोरियर स्लिप पर बिना जांच पड़ताल के विश्वास न करें ।

ओ एल एक्स वस्तु को क्रय करते समय जब तक वस्तु प्राप्त कर जांच परख न कर लें किसी भी प्रकार का पेमेन्ट न करें । 

यदि आपके साथ इस प्रकार की कोई भी घटना घटित होती है तो ओ एल एक्स पर तथा इन्दौर पुलिस के हेल्पलाईन नं. 7049124445, 7049124444 पर तुरन्त सम्पर्क करें।