बिशप पीसी सिंह के खिलाफ कोर्ट में पेश होगा चालान, फर्जीवाड़े की जांच रहेगी जारी

पी.सी सिंह की करतूतों और उसके खिलाफ दर्ज मामलों की जानकारी होगी।

जबलपुर, संदीप कुमार। जेल में बंद बिशप पी.सी सिंह (Bishop PC Singh) के फर्जीवाड़े की जांच अभी भी जारी है। लिहाजा जल्द ही ईओडब्ल्यू कोर्ट में चालान भी पेश करेगी। बिशप पी.सी. सिंह और उसका बेटा पीयूष पाल एंव सुरेश जैकब अभी जेल में है जिसके चलते eow को नियमानुसार 90 दिन के भीतर कोर्ट में चालान भी पेश करना है, इसके तहत बिशप पी.सी सिंह पर जो भी आरोप लगे हैं और जो फर्जीवाड़ा उजागर हुए हैं उन्हें चार्जशीट में रखा जाएगा। हालांकि eow की टीम सीआरपीसी की धारा 173 (8) में चालान पेश करेगी और आगे भी eow की जांच इस पूरे मामले में जारी रहेगी।

यह भी पढ़े…MP Politics: कांग्रेस के पोस्टर मे चेहरा बनने दिग्विजय की ना, कमलनाथ को लिखा पत्र

जानकारी के मुताबिक आर्थिक अन्वेषण ब्यूरो ने पी.सी सिंह को सरकारी कर्मचारी मान लिया है, उसके खिलाफ दर्ज मामले में आय से अधिक संपत्ति की धाराएं भी बढ़ाई जाएगी इसके बाद एक पत्र शिक्षा विभाग को भेजा जाएगा, जिसमें पी.सी सिंह की करतूतों और उसके खिलाफ दर्ज मामलों की जानकारी होगी। इस पत्र के आधार पर शिक्षा विभाग के मामले में चालान पेश करने की अनुमति मांगी जाएगी अनुमति मिलते ही ईओडब्ल्यू की टीम मामले में चालान पेश करेगी।

यह भी पढ़े…प्रधानमंत्री मोदी की छठ महापर्व की देशवासियों को शुभकामनाएं, कहा “सभी का जीवन अलौकिक रहे यही कामना है”

ईओडब्ल्यू ने अपनी जांच रिपोर्ट में fir से लेकर पी.सी सिंह के घर पर छापामार कार्यवाही के दौरान करोड़ों रुपए नगद सहित चल और अचल संपत्ति एंव पीयूष पाल और सुरेश जेकब की संलिप्तता के दस्तावेज समेत अन्य गवाहों के बयान और साक्ष्य शामिल हैं, जिसे की रिपोर्ट में ईओडब्ल्यू एडीजीपी को सौंपेंगे।