निसंतान महिला ने चुराया था अस्पताल से बच्चा, 24 घंटे के भीतर ही पकड़ाई

Destitute-woman-was-stolen-baby-from-the-hospital-in-jabalpur

जबलपुर| संभाग की सबसे बड़ी रानी दुर्गावती अस्पताल से चोरी हुए बच्चे को पुलिस ने कुछ घंटों में ही बरामद कर लिया है। बच्चा चुराने के आरोप में सिविल लाइन पुलिस ने एक दंपति को भी गिरफ्तार किया है जो मदर टैरेसा नगर के रहने वाले हैं और संतान ना होने के चलते बच्चा चुराने की बात उनके द्वारा कबूली गई है। बरेला के घटियाघाट में रहने वाली सुलोचना डेहरिया को कल दोपहर एक स्वस्थ बच्चा हुआ था और कुछ ही घंटों बाद अस्पताल से महिला का बच्चा चोरी भी हो गया। इस घटना के बाद सिविल लाइन थाना पुलिस तुरंत हरकत में आए और शहर में लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगालना  शुरू कर दिया इसके अलावा पुलिस ने अपने मुखबिर को भी अलर्ट कर बच्चे की तलाश शुरू कर दी।

तलाश के दौरान पुलिस ने बच्चे को कुछ ही घंटे में जहां बरामद कर लिया तो वही एक महिला पुरुष को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि संतान की लालच में महिला ने यह कृत्य किया था जिसमें उनके पति की भी सहभागिता थी। एसपी निमिष अग्रवाल के मुताबिक मदर टैरेसा नगर की रहने वाली संपत्ति सीता यादव और छोटेलाल यादव को कोई संतान नहीं हो रही थी।बच्चे की चाहत में पति पत्नी ने प्लान बनाया और सीधे रानी दुर्गावती अस्पताल के वार्ड नंबर 2 पहुंचे।जैसे ही उन्होंने देखा कि सिलोचना अपने बच्चे को पलंग में छोड़ कर बाहर निकली वैसे ही सीता ने बच्चे को उठा कर वहां से चलते बनी।घटना के वक्त अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे भी बंद थे जिसको लेकर एसपी ने अस्पताल प्रबंधन को हिदायत दी है कि दोबारा ऐसी गलती ना हो।