फिल्मी स्टाइल में किशोर के अपहरण की साजिश, आरोपियों ने की घर से उठाने की कोशिश

Dupe-MP-from-abducting

जबलपुर, संदीप कुमार। संजीवनी नगर में 17 साल के एक किशोर के फिल्मी स्टाइल में अपहरण (kidnapping) की योजना बनाई गई, लेकिन उससे पहले ही परिवार की सूझबूझ और स्थानीय लोगों की सजगता के कारण अपहरण होने की बड़ी वारदात टल गई। पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है वहीं दो आरोपी फरार बताए जा रहे है।  संजीवनी नगर पुलिस को घटना की जानकारी जैसे ही लगी तो तत्काल नाकाबंदी की गई और अपहरण करने आए 6 युवकों में से 4 को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

कर्ज में डूबे थे आरोपी, इसलिए बनाई योजना
संजीवनी नगर थाना पुलिस के मुताबिक प्रारंभिक पूछताछ में यह बात सामने आई है कि आरोपी कर्ज से लदे हुए थे और उसी कर्ज को चुकाने के लिए किशोर का अपहरण कर 50 लाख की फिरौती मांगने की योजना थी। आरोपी अपहरण के इस मामले में सफल हो पाते उससे पहले ही पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

किशोर के घर से अपहरण की साजिश 
पुलिस के मुताबिक जसूजा सिटी सामुदायिक भवन के पास संदीप कुसरे का घर है। उनकी कांचघर में इंडेन कंपनी की गैस एजेंसी है। संदीप गैस एजेंसी को वे समीक्षा टाउन से संचालित करते हैं। उनका 17 वर्षीय बेटा सुजल कुसरे 11वीं में पढ़ता है, सोमवार दोपहर 2.30 बजे सुजल और उसकी मां घर पर थे तभी बिना नंबर की सफेद कार से पांच लोग पहुंचे और बोले कि संदीप कुसरे से बात हुई है, उनकी गाड़ी बिक रही दिखा दो। सुजल ने आरोपियों को गाड़ी दिखाई और फिर उन्हें बाहर तक छोड़ने गया। पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने उसे गाड़ी में बैठकर बिकने वाली अपनी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर लिखने को कहा। इसपर उसने मना कर दिया और बाहर खड़े होकर रजिस्ट्रशेन नंबर लिखने लगा। तभी गाड़ी से उतरे दो आरोपी उसे धक्का देकर वाहन में बिठाने लगे, किशोर ने शोर मचाया तो छत पर खड़ी उसकी मां ने भी घटना होते हुए देख ली और उन्होने भी शोर मचाया। संयोग से उसी दौरान एक होमगार्ड पहुंच गया। इसके चलते आरोपियों को भागना पड़ा।

रांझी इलाके से गिरफ्तार हुए आरोपी
संजीवनी नगर पुलिस ने बताया कि घटना की जानकारी जैसे ही लगी पूरे शहर में नाकाबंदी कर दी गई और सीसीटीवी फुटेज से आरोपियों की पहचान की गई। साथ ही पुराने रिकॉड निकालकर निशानदेही की गई और वायरलैस से सभी पुलिस कर्मियों को सूचना पहुंचाई गई। इसी दौरान जानकारी लगी कि आरोपी रांझी में देखे गए है जिन्हें पुलिस ने टीम बनाकर गिरफ्तार किया। मामले से जुड़े दो आरोपी अभी फरार बताए जा रहे हैं। पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

कर्ज चुकाने के लिए बनाई थी अपहरण की योजना
पकड़े गए चार आरोपियों से जब पुलिस ने पूछताछ की तो प्रारंभिक तौर पर यह सामने आया है कि सभी आरोपी कर्ज से लदे हुए हैं और इसीलिए उन्होंने गैस संचालक के पुत्र के अपहरण की प्लानिंग की। इसी के तहत गाड़ी खरीदने के बहाने गैस संचालक के घर पहुंचे जहां से 17 साल के किशोर का अपहरण करना चाहा, लेकिन कामयाब नहीं हो सके।

इससे पहले एक घटना में फिरौती के बाद भी कर दी गई थी मासूम की हत्या
इससे पहले संजीवनी नगर क्षेत्र के धनवंतरी नगर एलआईसी में 13 साल के किशोर का अपहरण हुआ था, जिसमें फिरौती की राशि मिलने के बाद भी आरोपियों ने किशोर को मौत के घाट उतार दिया था। इस वारदात के बाद शहर की सुरक्षा व्यवस्था और पुलिस कर्मियों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो गए थे। हालांकि अच्छी बात ये रही कि आज अपराधी अपने मंसूबे में नाकाम हो गए और दुबारा एक अपहरण होने से पहले ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here