जबलपुर : EX-ARMY MAN का SUICIDE NOTE- मेरी पत्नी को मत देना मेरा शव

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश के जबलपुर में रांझी थाना के मानेगांव इंदिरा आवास कॉलोनी में रहने वाले एक्स आर्मी मैन ने शनिवार की सुबह खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी, आत्महत्या करने का एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया था वही पुलिस को अब मृतक का सुसाइड नोट भी हाथ लगा है, इस सुसाइड नोट में मृतक रामाधार प्रजापति ने अपनी पत्नी के खिलाफ नाराजगी जाहिर की है।

यह भी पढ़ें…. मध्यप्रदेश : सोमवार को भरेंगे नामांकन, कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार विवेक तंखा

मेरी लाश मेरी पत्नी को मत देना……
ग्रेनेडियर्स से रिटायरमेंट हुए मृतक रामाधार प्रजापति के पास से पुलिस को जो सुसाइड नोट मिला है उसमें अपनी पत्नी के खिलाफ मृतक ने नाराजगी जाहिर की है रामाधार प्रजापति ने सुसाइड नोट में लिखा कि मेरे मरने के बाद मेरी लाश मेरी पत्नी को मत देना वही पुलिस के मुताबिक सुसाइड नोट में किसी आरती नाम की युवती का भी जिक्र है, रामाधार प्रजापति ने सुसाइड नोट में लिखा है कि आरती मैं तुम्हें बहुत प्यार करता हूं और तुम्हें कभी भूल नहीं पाऊंगा…….

पत्नी और बच्चे करीब आठ माह से दूर थे मृतक से……
मृतक रामाधार प्रजापति मूलता उत्तर प्रदेश बांदा जिले का रहने वाला था जबलपुर के ग्रेनेडियर्स से रिटायर होने के बाद मानेगांव रांझी में उन्होंने अपना मकान बनवा लिया था, तकरीबन 7 माह पहले पत्नी और बच्चों से रामाधार प्रजापति का विवाद हुआ जिसके बाद से पत्नी और बच्चे अलग रह रहे थे तो वही रामाधार अकेला आ रहा करता था,बताया जा रहा है कि रामाधार प्रजापति शराब पीने का आदी है और इसी के चलते पत्नी और बच्चों से उसका आए दिन विवाद होता था।

यह भी पढ़ें…. MP पंचायत चुनाव पर बड़ी अपडेट, नॉमिनेशन पत्र पर निर्वाचन आयुक्त ने दिए निर्देश, पालन करना होगा अनिवार्य

मृतक की पत्नी ने एक अन्य युवती का भी किया था जिक्र……
मृतक रामाधार प्रजापति की पत्नी सरस्वती प्रजापति ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह अपने पति से तकरीबन 8 माह से दूर है इस दौरान मदन महल में रहने वाली लक्ष्मी पटेल नाम की युवती हमेशा रामाधार प्रजापति से मिलने आया करती थी, वहीं अब मृतक के सुसाइड नोट में एक और नाम सामने आया है जो की आरती का है जिसके बाद अब पुलिस आरती नाम की महिला की तलाश में भी जुट गई है, फिलहाल बांदा से रामाधार प्रजापति के परिवार वाले आए हैं और फिर उनका अंतिम संस्कार किया गया है।