33वी शादी करने जा रही लुटेरी दुल्हन को पुलिस ने धरदबोचा, 32 लोगों को दे चुकी थी धोखा

खास बात यह है कि जितनी उम्र की यह महिला उतनी ही शादी कर चुकी है।

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के जबलपुर (jabalpur) से एक लुटेरी दुल्हन (robber bride) का मामला सामने निकलकर आ रहा है जहां एक महिला के लिए शादी सात जन्मों का बंधन नहीं बल्कि 7 दिन का बंधन होता है। और वह शादी के आठवें दिन तो सारा घर का माल (पैसे-जेवर) समेट कर भाग जाती है। खास बात यह है कि जितनी उम्र की यह महिला उतनी ही शादी कर चुकी है। बताया जा रहा है कि एमपी के नर्मदापुरम में 1 तो राजस्थान में 31 शादियां कर चुकी है। वह जब 33वीं शादी करना चाहती उससे पहले ही राजस्थान पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़े…MP नगरीय निकाय चुनावों को लेकर बड़ी अपडेट, शिवराज सरकार ने बदला यह फैसला! अब ऐसे होगा महापौर का चुनाव

आपको बता दें कि लुटेरी दुल्हन का नाम रीना ठाकुर उर्फ सीता चौधरी उर्फ काजल चौधरी यह जबलपुर निवासी है। बताया जा रहा है की राजस्थान की सांगवाड़ा पुलिस काे इस महिला की एक साल से तलाश थी। तब जाकर कही दो दिन पहले राजस्थान के डुगरपुर की सांगवाड़ा पुलिस को सूचना मिली कि लुटेरी दुल्हन जबलपुर में गुड्‌डी बर्मन नाम की महिला के साथ रहती है। गुड्‌डी बर्मन फर्जी शादी कराने का गिरोह संचालित करती है। वह पैसे लेकर लोगों की फर्जी शादी कराती है। गुड्‌डी का नंबर मिलने के बाद सांगवाड़ा पुलिस ने एक आरक्षक भानुप्रताप को ग्राहक बनाकर बातचीत शुरू की। जिसके बाद गुड्‌डी बर्मन ने आरक्षक के पास 8 लड़कियों की फोटो भेजी। इसमें फरार चल रही महिला रीना का भी फोटो था।

यह भी पढ़े…मंगल ग्रह पर दिखा एक रहस्यमई दरवाजा, नासा की टीम कर रही जांच

आरक्षक ने रीना से शादी करने की हामी भरी। गुड्‌डी बर्मन ने भानुप्रताप को जबलपुर के समदड़ीया मॉल के पास मिलने और एडवांस में 50 हजार रुपए लेकर बुलाए। आरक्षक भानुप्रताप और आरक्षक वीरेंद्र सिंह आपस में दोस्त बनकर मिलने पहुंचे। महिला टीम कुछ दूर खड़ी रही। गुड्‌डी बर्मन पूजा ठाकुर को लेकर पहुंची। रीना का परिचय उसने काजल चौधरी के तौर पर दिया। बताया कि उसके माता-पिता नहीं हैं। वह मौसी लगती है। दोनों का इशारा मिलते ही कुछ दूरी पर मौजूद महिला आरक्षकों की टीम ने दोनाें को दबोच लिया और राजस्थान रवाना हो गई।

यह भी पढ़े…BJP विधायक अजय विशनोई ने बिजली कटौती पर अपनी ही सरकार को दिखाया आईना

गौरतलब है कि 12 दिसंबर 2021 को प्रकाश चंद्र भट्ट निवासी जोधपुरा ने शिकायत दर्ज कराई, की जुलाई 2021 में एजेंट रमेश ने 5 लाख रुपए लेकर रीना ठाकुर से मेरी शादी कराई, और रीना ने शादी के 7 दिन तक ससुराल में रही। इसके बाद पति के साथ जबलपुर गई। लौटते समय रास्ते में रीना ने अन्य साथियों को बुलाकर पति से मारपीट करवाई और उनके साथ भाग गई। इसके बाद रीना और परेश ने अपने मोबाइल नंबर बदल लिए थे।

यह भी पढ़े…पंजाब : चिंतन शिविर के बीच कांग्रेस को बड़ा झटका, असंतुष्ट नेता ने पार्टी को छोड़ा

राजस्थान की सांगवाड़ा पुलिस ने खुलासा किया है कि रीना चौधरी ने अलग-अलग नामों से आधार कार्ड तैयार कराकर शादी करती थी। यही कारण है कि पुलिस को उस तक पहुंचने में एक साल लग गए। लूटेरी दुल्हन रीना ठाकुर की बजाय उसका असली नाम सीता चौधरी है। वह जबलपुर में गुड्डी उर्फ पूजा बर्मन के पास काम करती है। गुड्डी और पूजा बर्मन ने लूटेरी दुल्हन का गिरोह चला रखा है। उसके पास कुछ और लड़कियां और उनके फर्जी, नाम, पते के आधार कार्ड सहित अन्य कागज बनाकर रखे हैं। ये गिरोह कई राज्यों में एजेंट के माध्यम से फर्जी शादी करवा कर पैसे और गहने लूटकर फरार हो जाती है। इस गिरोह की सबसे शातिर महिला रीना है। 32 वर्षीय इस महिला की अब तक 32 शादी हो चुकी है। कई मामलों में भंडाफोड़ होने के बाद वो जेल भी जा चुकी है।