जबलपुर : जिस किरायेदार पर किया बेटे जैसा भरोसा, उसी ने उतारा मौत के घाट

indore

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। जबलपुर के मदनमहल थाना इलाके में 8 अगस्त की दोपहर कालीमठ रोड राम मंदिर के सामने एक महिला की हत्या का मामला पुलिस ने सुलझा लिया है। 60 साल की बुजुर्ग महिला को उनके किरायेदार ने ही अपने दोस्त के साथ मिलकर मौत के घाट उतार दिया था, आरोपी को पता था कि महिला अकेली रहती है और उनके पास नकदी और जेवर है, इसी लालच में आरोपियों ने उन्हे बुरी तरह मारा और फिर जीआई वायर से उनके हाथ पैर बांधकर मरने के लिए छोड़ दिया। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए उनसे लूटी गई नकदी और जेवर बरामद कर लिए है।

यह भी पढ़ें… MP: स्कूल-कॉलेज छात्रों के लिए जरूरी खबर, प्राचार्य-प्रबंधक को देनी होगी सूचना, ऐसे मिलेगा लाभ

यह था मामला

8 अगस्त को कालीमठ रोड राम मंदिर के सामने रहने वाली केशर बाई चौकसे उम्र 66 वर्ष के मकान किराये से रहने वाले एक परिवार ने देखा कि उसके घर में पानी नही था मोटर की बटन मकान मालिक के यहां लगी थी उसने दरवाजा खटखटाया कोई आवाज नहीं आई, उसने आसपास के लोगों को बताया और उढ़के हुये दरवाजे को खोलकर देखा टीव्ही चालू थी अंदर जाकर देखा आलमारी खुली थी एंव कपड़े पलंग पर बिखरे हुये थे तथा बगल वाले कमरे मे जिसमें कोई किरायेदार रहता था उसके दरवाजे की चटकनी केशर बाई के कमरे की ओर लगी थी, कमरे की चटकनी को खोलकर देखा तो केशर बाई मृत अवस्था में किचिन वाले कमरे में खून से लथपथ पड़ी थीं दोनों पैर बिजली के तार से तथा दोनों हाथ नायलॉन की रस्सियों से बंधे थे एवं चेहरा चादर तकिया एवं रजाई से ढका था। इस घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची, मौके पर पहुंची टीम ने घटना स्थल पर मिले भौतिक एवं वैज्ञानिक साक्ष्यों के आधार पर संदेही देवी प्रसाद पटेल उर्फ आकाश पटेल उर्फ छोटू पिता राजकुमार पटेल उम्र 25 वर्ष निवासी ग्राम राठी तहसील लखनादौन जिला सिवनी एवं दीपक पटेल पिता कमलेश पटेल उम्र 25 वर्ष पता ग्राम राठी, धूमा तहसील लखनादौन जिला सिवनी को हिरासत में लेकर पूछताछ की,दोनों टूट गए और उन्होंने बताया कि देवी प्रसाद उर्फ आकाश पटेल दिनांक- 03.03.2022 से 28.07.2022 तक मृतिका श्रीमति केशर बाई के मकान में रहता था इसी दौरान आकाश कोे इस दौरान पूरी जानकारी मिल गई थी कि केशरवाई अकेली रहती है, पास में जेवर एवं रुपये पैसे ठीक ठाक है, इसलिये मकान खाली करने के बाद चोरी करने की नियत से अपने साथी दीपक पटैल को साथ लेकर केशरबाई से दिनांक 07.08.2022 के दोपहर लगभग 02/30 बजे मिला एवं बातचीत करते हुये दीपक पटैल को किराये का कमरा दिलाने के बहाने से भीतर चला गया, भीतर पहुंचकर केशर बाई को अपना कीमती सामान तुरंत देने के लिये बोलने पर केशरबाई अपने बचाव में शोर मचाने लगी तो साथ में लाई हुई हथौडी से केशर बाई के सिर पर हमला कर श्रीमति केशरबाई के मुह में कपडा ठूंसकर उसे नियंत्रित करने का प्रयास किया एवं श्रीमति केशर बाई को एक कमरे में किनारे ले जाकर पटककर श्रीमति केशर बाई के दोनो हाथ व पैर किचिन में रखी रस्सी एवं बिजली के तार से बांध दिये एवं आलमारी में रखे सोने चांदी के जेवर एवं नगद 1 लाख 35 हजार रुपये लेकर भाग गये थे, घबराहट में केसर बाई के पहने हुये गहने उतारकर नही ले जा पाये। दोनों आरोपियेां की निशादेही पर चुराये हुये नगद 1 लाख 35 हजार रूपयें में से 1 लाख 30 हजार 500 रूपये, सोने के 4 कंगन वजनी 4 तोला, 1 चेन वजनी डेढ तोला एवं चांदी की बिछिया, तथा घटना में प्रयुक्त हथौडी, काले रंग की पल्सर मोटर सायकिल जे.के. 14 एफ 7592 जप्त की गयी है।