शराब से भरा ट्रक पुलिस ने पकड़ा, कार्यवाही को लेकर पुलिस-आबकारी अमला आमने सामने

अब सवाल यह उठता है कि अवैध शराब के मामले में आखिर कौन कार्यवाही करेगा साथ ही शराब के मिलान को लेकर दस्तावेजों की जांच करने का अधिकार भी आबकारी विभाग को है या फिर पुलिस को.

जबलपुर, संदीप कुमार।   इंदौर से शहडोल जा रहे शराब से भरे एक ट्रक को अधारताल थाना पुलिस ने नेशनल हाईवे पर  रोका, पुलिस को सूचना मिली थी कि इस ट्रक में क्षमता से कहीं अधिक शराब रखी हुई है जिसके आधार पर पुलिस ने ट्रक रोका और जांच शुरू की।  इधर मीडिया को भी पुलिस की इस कार्यवाही की जानकारी जब लगी तो वह भी मौके पर पहुंच गई पर पुलिस ने इस पूरी कार्रवाई पर पर्दा डालने की भरसक कोशिश की।

आबकारी विभाग के कर्मचारी भी रहे मौजूद 

अधारताल थाना पुलिस शराब से भरे ट्रक को लेकर कार्रवाई कर रही थी और मीडिया भी लगातार पुलिस से जानकारी हासिल करना चाह रही थी बावजूद इसके अधारताल थाना पुलिस इस पूरे मामले में चुप्पी साधे हुई थी वही पुलिस की कार्यवाही के समय आबकारी विभाग का अमला भी मौके पर मौजूद था पर पुलिस इसे अपनी कार्यवाही बता रही थी, जानकारी के मुताबिक इंदौर से शहडोल जा रहे जिस ट्रक को पुलिस ने रोका था उस ट्रक में करीब 13 सौ से ज्यादा शराब की पेटियां रखी हुई थी पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि इस ट्रक में क्षमता से कहीं अधिक शराब रखी हुई है।

 ये भी पढ़ें – दबंगों ने कार अड़ाकर रेत से भरे डंपर रोके, बन्दूक की दम पर कराये खाली

पुलिस ने आबकारी विभाग को कार्रवाई से रखा दूर

अधारताल थाना पुलिस ने शराब से भरे ट्रक को पकड़ लिया और जब मीडिया ने इस कार्रवाई की जानकारी मांगी तो पुलिस ने अपनी अनभिज्ञता इस कार्रवाई से कर दी ,इसके बाद इस कार्यवाही की जानकारी एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा को दी गई जिसके बाद अधारताल थाना पुलिस ने अपनी कार्यवाही मीडिया के सामने रखी, अधारताल थाना पुलिस के मुताबिक मुखबिर से सूचना के बाद यह कार्यवाही की गई है साथ ही शराब का मिलान भी किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें – वन विभाग की दबंग महिला ऑफीसर पर रेत माफिया का हमला, पुलिस पर उठे सवाल

बड़ा सवाल अब कौन करेगा इस पूरे मामले में कार्यवाही

जानकारी के मुताबिक जिस समय अधारताल थाना पुलिस ने यह कार्रवाई की थी उस समय आबकारी विभाग का अमला भी मौजूद था ऐसे में अब सवाल यह उठता है कि अवैध शराब के मामले में आखिर कौन कार्यवाही करेगा साथ ही शराब के मिलान को लेकर दस्तावेजों की जांच करने का अधिकार भी आबकारी विभाग को है या फिर पुलिस को, यह बड़ा सवाल बना हुआ है बहरहाल अधारताल थाना पुलिस ने शराब से भरे ट्रक को जप्त कर अपने परिसर में खड़ा कर लिया है।

ये भी पढ़ें – MP News: निजी उद्योग के कर्मचारियों को बड़ी राहत, सेवानिवृत्ति को लेकर HC का बड़ा फैसला