स्वसहायता समूह की महिलाओं ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सीएम शिवराज को बताई अपनी उपलब्धि

खंडवा/ सुशील विधानी

खण्डवा में स्वसहायता समूहों द्वारा मॉस्क, सेनेटाइजर व पीपीई किट बनाई जा रही है। शनिवार को स्वसहायता समूह की कल्पना व कविता से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से वीडियो कान्फ्रेंसिंग से इस बारे में चर्चा की।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों में कार्यरत महिला स्वसहायता समूहों की दीदीयों से चर्चा की तथा कहा कि महिला सशक्तिकरण का सबसे अच्छा माध्यम है महिला स्वसहायता समूह। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेश के महिला स्वसहायता समूहों ने मॉस्क, पीपीई किट, हेंड ग्लब्स, सेनेटाइजर तैयार कर कोरोना से लड़ने में मदद की है। इन सामग्रियों का निर्माण कर महिला स्वसहायता समूहों की महिलाएं आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर भी हो रही है। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खण्डवा जिले के गोकुल गांव के राधा स्वामी स्वसहायता समूह की अध्यक्ष कल्पना व बोरगांव खुर्द के श्री सांई ग्रामीण आजीविका स्वसहायता समूह की कविता पटेल से चर्चा की। इस दौरान कल्पना ने मुख्यमंत्री को बताया कि कोरोना संक्रमण के कारण हुए लॉकडाउन में जब मजदूरों को रोजगार की समस्या आ रही है, ऐसे में महिलाओं ने स्वसहायता समूहों के माध्यम से फेस मॉस्क व सेनेटाइजर का निर्माण किया, जिससे महिला सदस्यों का आय तो प्राप्त हुई ही, साथ ही जिले के नागरिकों को उचित मूल्य पर मॉस्क, सेनेटाइजर, हेंड ग्लब्स जैसी सामग्री उपलब्ध हुई।

मुख्यमंत्री से चर्चा करते हुए स्वसहायता समूह अध्यक्ष कविता पटेल ने बताया कि सेनेटाइजर उत्पादन का विधिवत प्रशिक्षण लेकर गुणवत्ता युक्त सेनेटाइजर उनके द्वारा तैयार किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खण्डवा जिले के स्वसहायता समूहों की महिलाओं को शुभकामनाएं दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here