खंडवा: डैम निर्माण के दौरान अवैध रुप से की गई ब्लास्टिंग, 12 वर्षीय बालिका की मौत, एक गंभीर रूप से घायल

ब्लास्टिंग के दौरान एक बड़ा पत्थर का टुकड़ा हवा में उड़कर सेमलिया गांव में बाहर बैठी एक बालिका मथुरा, को जा लगा जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई, दूसरा पत्थर उसकी बहन सुषमा जो साथ ही बाहर बैठी हुई थी उसे जा लगा जिस से वह भी बुरी तरह घायल हो गई। सुषमा ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।

खंडवा

खंडवा,सुशील विधानी। बीते रोज खंडवा (khandwa) जिले के राजगढ़ गांव (rajgarh village) में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई, जहां ठेकेदार की लापरवाही के चलते एक 12 वर्षीय बालिका की ब्लास्टिंग (blasting) के दौरान घटनास्थल पर ही मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना दोपहर लगभग 12:30 बजे की है जहां डैम (dam) का निर्माण कर रहे ठेकेदार द्वारा अवैध रूप से नियमों को ताक पर रखकर ब्लास्टिंग की गई, ब्लास्टिंग के दौरान एक बड़ा पत्थर का टुकड़ा हवा में उड़कर सेमलिया गांव में बाहर बैठी एक बालिका मथुरा, को जा लगा जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई, दूसरा पत्थर उसकी बहन सुषमा जो साथ ही बाहर बैठी हुई थी उसे जा लगा जिस से वह भी बुरी तरह घायल हो गई। सुषमा ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।

यह भी पढ़ें… मंज़र भोपाली को बिजली विभाग ने भेजा 36 लाख का बिल, शायर ने कहा- ‘एमपी गज़ब है’

मामला पंधाना विधानसभा क्षेत्र के गांव सेमलिया-राजगढ़ का है। यहां भाम नदी पर डेम निर्माण का कार्य इंदौर की सत्यलक्ष्मी कंस्ट्रक्शन कंपनी कर रही है। रविवार दोपहर 12 बजे ठेकेदार ने नदी में बिना किसी जानकारी के ब्लास्टिंग करा दी। ब्लास्टिंग की वजह से पत्थर उड़कर थोड़ी दूर बने मजूदरों के घर पर जा टकराए। पत्थर बड़े और वजनी होने के कारण बाहर लगी टीन को चीरते हुए मासूम बहने सुषमा पिता जगनलाल निवासी हीरापुर व उसकी बड़ी बहन मथुरा पर जा गिरे। हादसे में सुषमा की मौत हो गई। वहीं मथुरा का पैर फ्रेक्चर होने से उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।
अस्पताल पहुंचे क्षेत्रीय विधायक राम दांगोरे ने खनिज और राजस्व विभाग के अफसरों पर आरोप लगाए कि वे पार्टनर की भूमिका में ठेकेदारों के साथ काम करते हैं। ठेकेदार मनोज शर्मा, अशोक बर्फा आदि पर ठोस कार्रवाई नहीं होती है तो वह धरने पर बैठेंगे। विधायक ने कंपनी के सुपरवाइजर अशोक को पकड़ कर पुलिस के हवाले किया।

घटना की जानकारी लगते ही पंधाना विधायक राम दागोरे ने जिला अस्पताल पहुंचकर घायलों का हालचाल जाना और ठेकेदार के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। विधायक ने बताया कि भाम परियोजना में अवैध रूप से पूरे क्षेत्र में ब्लास्टिंग की जा रही है ,ठेकेदार द्वारा लापरवाही बरती गई मेरे द्वारा विधानसभा में प्रश्न भी लगाया गया उस समय कार्रवाई हो जाती तो इस प्रकार का हादसा नहीं होता ।

यह भी पढ़ें… नकली रेमडेसिवीर मामला: US की कंपनी ने कहा- ‘हमने नहीं भेजे इंजेक्शन’

अधिकारियों की मिलीभगत से मेरे क्षेत्र में बड़े पैमाने पर अवैध उत्खनन हो रहा है, खनन माफिया लोगों की जान से खेल रहे हैं,अधिकारियों ने ब्लास्टिंग के मुद्दे पर ऊपर तक लीपापोती कर दी है,माइनिंग माफियाओं ने मेरी पूरी विधानसभा को खोद डाला है। खनन माफियाओं के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए नहीं तो मैं आज ही धरने पर बैठ जाऊंगा।

परिजनों ने प्रशासन पर उंगली उठाते हुए कहा कि ठेकेदार द्वारा लगातार ब्लास्टिंग की जा रही है , यह पहली बार नहीं इससे पहले भी कई बड़े-बड़े पत्थर घर पर आकर गिरे हैं लेकिन हम गरीबों को कोई सुनता नहीं है। आज हमारी बालिका की मौत हो गई हमें इंसाफ चाहिए और जो भी आरोपी हो उसके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।