MP News : स्कूलों की ग्रेडिंग करने वाला पहला राज्य बना मध्यप्रदेश, इन जिलों को मिली ए ग्रेड

MP News : देशभर में मध्यप्रदेश राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे में अच्छी और गुणवत्तापूर्ण स्कूल शिक्षा में 5वें नंबर पर है। इसी में पहले स्थान को प्राप्त करने के लिए मध्यप्रदेश ने नौवीं से 12वीं तक के स्कूलों की पहली बार जिलेवार ग्रेडिंग करना शुरू की है। जिसके रिजल्ट भी सामने आ चुके हैं। ये स्कूली शिक्षा में सुधार लाने की दिशा में राज्य सरकार की नई पहल है। ऐसे में मध्यप्रदेश के 5 ऐसे जिले है जो शीर्ष में आए है। इन जिलों में दमोह, सिंगरौली, नरसिंहपुर, सागर, छिंदवाड़ा शामिल है। इसके अलावा इंदौर इस सर्वे में 8वें नंबर पर और भोपाल 19वें नंबर पर आया है। इसके साथ ही ग्वालियर 17वें और जबलपुर 29वें स्थान आए है।

इस आधार पर की गई ग्रेडिंग –

जो ग्रेडिंग की गई है वो ए-प्लस –अति उत्कृष्ट (90 –100), ए –अच्छा (75 –89), बी –संतोषजनक (60 –74), सी –औसत (50 –59), डी –खराब (00 –49) के आधार पर की गई है। आपको बता दे, हर तीन महीने में राज्य का स्कूल शिक्षा विभाग प्राथमिक, माध्यमिक, हाईस्कूल व हायर सेकंडरी स्कूलों की ग्रेडिंग कर रहा है। खास बात ये है कि जो ग्रेडिंग आई है उसके आधार पर ही जिलेवार अधिकारियों ने स्कूलों के प्रिंसिपल के साथ बैठक की। साथ ही उन्हें बोर्ड परीक्षा के परिणाम में सुधार करने के निर्देश दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक, स्कूलों की ग्रेडिंग 10वीं व 12वीं के बोर्ड परीक्षा का परिणाम, सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों का निराकरण, वोकेशनल पाठ्यक्रम में नामांकन, निष्ठा प्रशिक्षण, इंस्पायर अवार्ड, स्कूलों में टेबलेट की उपलब्धता, ब्रिज कोर्स, नामांकन और ठहराव को देखते हुए की गई। लेकिन इसमें जिले के एक भी स्कूल ए प्लस ग्रेड में नहीं आ पाए है लेकिन 19 जिलों को ए ग्रेड तो 31 जिलों को बी- ग्रेड मिली है। इसमें सिर्फ खरगोन को सी ग्रेड दी गई है। क्योंकि यहां के स्कूलों का प्रदर्शन अब तक के सभी स्कूलों से ज्यादा ख़राब है।

10 जिले जिन्हें ए ग्रेड मिली

जिला – अंक – स्थान

  1. दमोह – 83.2 – 1
  2. सिंगरौली – 81.6 – 2
  3. नरसिंहपुर – 81.5 – 3
  4. सागर – 81.2 – 4
  5. छिंदवाड़ा – 81.1 – 5
  6. पन्ना – 79.7 – 6
  7. मंदसौर – 77.4 – 7
  8. इंदौर – 77.3 – 8
  9. देवास – 77.3- 9
  10. नीमच – 77.2 -10

सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले जिले –

जिला – अंक – स्थान

  1. खरगोन – 57 – 52
  2. झाबुआ – 61.3 – 51
  3. बड़वानी – 63.1 – 50
  4. निवाड़ी – 64.6 – 49
  5. बुरहानपुर – 64.8 – 48
  6. श्योपुर – 65.1 – 47
  7. भिंड – 65.7 – 46
  8. मुरैना – 65.9 – 45
  9. शिवपुरी – 67.4 – 44
  10. मंडला – 67.4 – 43