मुरैना : दूध के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 3 लोग हुए गंभीर रूप से घायल, दो को किया ग्वालियर रेफर

दोनों पक्षों में पहले मारपीट हुई फिर पथराव हुआ।

मुरैना, संजय दीक्षित। जिले के बागचीनी थाना क्षेत्र के वीरमपुरा गांव में दो दूध व्यापारियों के बीच खूनी संघर्ष हो गया। जिसमे तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुँच गई और घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया हैं।

यह भी पढ़े…‘Baby Yingliang’: चीन में मिला डायनासोर का अंडा, नाम है ‘Baby Yingliang’

हम आपको बता दें कि लंकेश शर्मा और मोहर सिंह जाटव वीरमपुरा गांव में दूध का व्यापार का करते हैं। दोनों पशु पालकों से दूध खरीदकर उसका व्यापार करते हैं। दरअसल, मोहर सिंह जाटव ने कुछ दिन पहले पशु पालकों को दूध की अधिक कीमत देते हुए उन्हें दूध देने के लिए मना लिया था। इसकी जानकारी जब लंकेश शर्मा को लगी तो दोनों व्यापारियों के बीच दूध के दाम को लेकर जमकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि लंकेश शर्मा की ओर से 20 से 30 लोगों ने मोहर सिंह के घर पर हमला कर दिया। दोनों पक्षों में पहले मारपीट हुई फिर पथराव हुआ।

यह भी पढ़े…आयकर विभाग ने चीनी मोबाइल कंपनियों पर की छापेमार कार्रवाई

गौरतलब है कि घटना के बाद मोहर सिंह ने अपने परिवार के साथ बागचीनी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए रवाना हुआ तो दबंगों ने उनको गांव के बाहर लालबांस रोड पर घेर लिया और उन पर गोलियां चला दी। फिर गोली लगने से काशीराम जाटव, राजेश जाटव और उनका बेटा पुरुषोत्तम जाटव, घायल हो गए। वहीं लाठी और पथराव के हमले से तीन अन्य लोग भी घायल हो गए। और गोली लगने से घायल पिता-पुत्र को जिला अस्पताल से ग्वालियर रेफर किया गया है। इसके साथ ही लंकेश शर्मा को गोली लगने के बाद गंभीर रूप से जौरा अस्पताल ले जाया गया जहां उपचार के बाद लंकेश को जौरा से जिला अस्पताल के लिए रैफर कर दिया हैं। जहाँ प्राथमिक उपचार के बाद घायल लंकेश को जिला अस्पताल के वार्ड में भर्ती करा दिया गया है। उधर बागचीनी पुलिस ने मामले दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।