Morena News : ठगों ने आगरा के सराफा व्यापारी से 18 किलो चांदी की ठगी, पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार

Morena News : मध्य प्रदेश के मुरैना जिले से एक ठगी का मामला सामने आया है जहाँ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से साढ़े पांच किलो चांदी के बर्तन, एक लाख रुपये नकद बरामद कर लिए हैं। बताया जा रहा है कि ठग उत्तप्रदेश, मध्यप्रदेश व राजस्थान में पूर्व में भी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। दो साथी अभी फरार हैं।

यह है मामला

पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार, गोकुलपुरा आगरा उत्तरप्रदेश निवासी सराफा व्यापारी प्रिंस वर्मा से ठगों ने मोबाइल पर संपर्क कर ग्वालियर के व्यापारी बनकर चांदी के बर्तन खरीदने का सौदा किया। सौदा इस प्रकार था कि ठग ठोस चांदी देंगे, उसके बदले में व्यापारी चांदी के बर्तन देगा। डील के तहत ठगों ने बर्तनों की बनवाई के 20 हजार रुपये प्रिंस को दिए। इसके बाद ठोस चांदी देने की बात हुई, परंतु ठग प्रिंस को 18 किलो नकली ठोस चांदी थमाकर 18 किलो के असली चांदी के बर्तन ले गया।

Morena News : ठगों ने आगरा के सराफा व्यापारी से 18 किलो चांदी की ठगी, पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार

Morena News : ठगों ने आगरा के सराफा व्यापारी से 18 किलो चांदी की ठगी, पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार

बता दें कि व्यापारी इस लालच में आ गया कि बर्तन की चांदी की जगह असली ठोस चांदी मिल रही है और 20 हजार रुपये बनवाई भी मिल रही है। जब उसे पता चला कि यह चांदी नकली है तो एक अक्टूबर को कोतवाली थाने पहुंचकर शिकायत की। पुलिस ने व्यापारी की शिकायत पर ठगों के मोबाइल नंबर के आधार पर पड़ताल की। पता चला कि ठग मुरैना पंचायती धर्मशाला के पास इन चांदी के बर्तनों को बेचने आए है। इसी सूचना पर पुलिस ने दो ठगों को धर दबोचा। पकड़े गए ठग कपिल जैन निवासी पथवारी बेलनगंज आगरा उत्तरप्रदेश व भूरा धाकड़ निवासी नगला धाकरन नाई की मंडी आगरा के है। वहीं इनके दो साथी अभी फरार है जो आगरा के ही बताए जा रहे हैं।

मुरैना से नितेन्द्र शर्मा की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News