Murder- 48 घंटे के भीतर मुरैना पुलिस के हत्थे चढ़े हत्या के आरोपी

मुरैना पुलिस ने पैसों के लेने देन के चलते अंधे कत्ल (blind murder) का खुलासा करते हुए हत्या (Murder) के आरोपियों को 48 घंटे में गिरफ्तार कर लिया है।

morena police arrested murder accused

मुरैना, संजय दीक्षित। पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ हंसराज सिंह एवं सीएसपी राजेंद्र सिंह रघुवंशी के द्वारा आगामी होने वाले विधानसभा चुनाव को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए हत्या ( Murder), हत्या के प्रयास (attempt to murder) में फरार, इनामी बदमाशों की धरपकड़ के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान में सराय छोला थाना प्रभारी की टीम ने 48 घंटे पूर्व हुई युवक की हत्या ( Murder) का खुलासा किया है।

सराय छोला थाना में 24 घंटे पूर्व मृतक नीरज जाटव के भाई बंटी जाटव निवासी कैमरा गांव ने रिपोर्ट में बताया कि अपने मजदूरी के ₹200 मांगने के लिए भोला और अशोक गुर्जर के घर पर नीरज मांगने गया था। तो दोनों ने मिलकर जातिसूचक गालियां दी और मारपीट करते हुए जान से मारने की नियत से कुएं में धक्का दे दिया था।जिससे नीरज की मौत हो गयी। मृतक के भाई की रिपोर्ट पर मामले को विवेचना में लिया गया था।

ये भी पढ़े – टीकमगढ़ – लॉ कॉलेज में धरना प्रदर्शन, प्रवेश सीटों को बढ़ाने की मांग

वहीं सराय छोला थाना प्रभारी जयपाल सिंह गुर्जर को मुखबिर द्वारा सूचना मिली के मजदूर की हत्या करने वाले आरोपी बंधा चौराहे पर घूम रहे हैं। उक्त सूचना से पुलिस ने बंधा चौराहे पर जाकर देखा तो दो लड़के पुलिस को देखकर भागने लगे, तभी पुलिस ने पीछा कर नाम पूछा तो उन्होंने अपना नाम अशोक गुर्जर पुत्र निर्भय गुर्जर उम्र 20 साल एवं भोला गुर्जर पुत्र राम नरेश गुर्जर उम्र 22 साल निवासी कैमरा कला का होना बताया है। आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया है। आरोपी की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी जयपाल सिंह गुर्जर, उप निरीक्षक संतोष बाबू गौतम, आरक्षक योगेंद्र, महेंद्र और भूरी की सराहनीय भूमिका रही।