MP की इस सीट पर रहेंगी सबकी निगाहें, एक भी चुनाव नहीं हारने वाले केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर दिमनी में दिखायेंगे दम!

Atul Saxena
Updated on -
MP Election 2023

MP Election 2023 : मध्य प्रदेश में किसकी सरकार बनेगी आज इसका फैसला हो जायेगा, विधानसभा की 230 सीटों के लिए चुनाव मैदान में उतरे 2533 प्रत्याशियों में से किसके भाग्य में जीत लिखी है ये कुछ घंटे बाद सामने आ जायेगा लेकिन इस बात कुछ सीट हैं जिसपर प्रदेश सहित पूरे देश की निगाहें हैं, भाजपा ने इस बार तीन केंद्रीय मंत्रियों सहित कुल 7 सांसदों की विधानसभा चुनाव लड़वाकर सियासी पंडितों को चौंका दिया है, इसी में से एक हैं केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर जो अपने संसदीय क्षेत्र मुरैना-श्योपुर की दिमनी सीट से चुनाव मैदान में हैं…आइये बात करते हैं उनके राजनीतिक सफ़र की …

यहाँ ब्राह्मण, क्षत्रिय और एससी वोटर निभाते हैं महत्वपूर्ण भूमिका 

केंद्र सरकार में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को भाजपा ने मुरैना जिले की दिमनी विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा है, यहाँ उनका मुकाबला कांग्रेस के वर्तमान विधायक रविन्द्र सिंह तोमर “भिडोसा” से है, दोनों हो प्रत्याशी तोमर हैं और ये विधानसभा क्षत्रिय और ब्राह्मण बाहुल्य है तो मुकाबला बहुत कड़ा हो गया है हालाँकि एस एसटी वोटर भी जीत हार में बड़ी भूमिका  निभाते हैं।

मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस में 

आपको सबसे पहले मतदाताओं का गणित समझाते है, दिमनी विधानसभा में 2.25 लाख मतदाता हैं इनमें सामान्य वोटर की संख्या 65 हजार है, जिसमें क्षत्रिय, ब्राह्मण और अन्य जातियों के मतदाता आते हैं जबकि अनुसूचित जाति के 48 हजार वोटर हैं शेष अन्य हैं, इस बार यहाँ मतदान वाले दिन कई बार हिंसा हुई और मतदाताओं को वोट देने से रोका भी गया जिससे लगता है कि हार जीत के अंतर पर बहुत फर्क पड़ेगा।

ये है दिमनी सीट का इतिहास   

दिमनी सीट के मिजाज की बात करें तो  1980 से 2008 तक इसपर भाजपा का दबदबा रहा है, लेकिन पिछले दो आम चुनावों में भाजपा को यहाँ हार मिली है 2013 में दिमनी से बीएसपी प्रत्याशी बलवीर सिंह डंडोतिया ने जीत दर्ज की तो 2018 में कांग्रेस के गिर्राज डंडोतिया विधायक बने , 2020 में हुए उप चुनाव में कांग्रेस के रविन्द्र तोमर ने भाजपा के गिर्राज डंडोतिया को हराया था, अब अपने गढ़ में वापसी करने के लिए भाजपा ने यहाँ से केंद्रीय मंत्री अन्रेंद्र सिंह तोमर को चुनाव मैदान में उतारा है।

नरेंद्र सिंह तोमर ने कोई भी चुनाव नहीं हारा 

नरेंद्र सिंह तोमर 2009 से केंद्र सरकार में मंत्री हैं , वे करीब 20 साल बाद विधानसभा का चुनाव लड़ रहे हैं, नरेंद्र सिंह तोमर ने अपना पहला विधानसभा चुनाव 1998 में ग्वालियर जिले की ग्वालियर विधानसभा से लड़ा था और जीत दर्ज की थी, उन्होंने  2014 में ग्वालियर लोकसभा से पहली बार चुनाव लड़ा और जीत कर संसद पहुंचे थे , 2019 में वे मुरैना श्योपुर सीट से चुनकर संसद पहुंचे और यहीं से अभी सांसद हैं और विधानसभा का चुनाव लड़ रहे हैं , ध्यान देने वाली बात ये है कि नरेंद्र सिंह तोमर ने अभी तक एक भी चुनाव नहीं हारा है।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News