MP News : Driving License की नई व्यवस्था को लेकर युवाओं में उत्साह, ऐसे उठा रहे लाभ

मध्यप्रदेश (MP News) में 2 अगस्त 2021 को परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस सेवा का वर्चुअली शुभारम्भ किया।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  मध्यप्रदेश शासन के परिवहन विभाग की Driving License प्राप्त करने के लिए शुरू की गई  ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस सेवा का प्रदेश के युवा बहुत तेजी से लाभ उठा रहे हैं। परिवहन विभाग की इस सेवा की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दो महीने से भी कम समय में एक लाख से ज्यादा आवेदक ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस के लिए आवेदन कर चुके हैं और परिवहन विभाग 81,605 आवेदकों को लाइसेंस जारी कर चुका है।

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा आधार प्रमाणीकरण (Adhar Authentication) के आधार पर परिवहन सेवाओं को Faceless रूप में देने की अधिसूचना मार्च 2021 में जारी करने के बाद मध्यप्रदेश में परिवहन विभाग ने भी Faceless सेवाएं देने की शुरुआत की।

ये भी पढ़ें – Gold Silver Rate : सोना हुआ सस्ता, चांदी में तेजी, बाजार जाने से पहले जान लें रेट

मध्यप्रदेश (MP News) में 2 अगस्त 2021 को परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत (Transport Minister Govind Singh Rajput) ने ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस (Online Learning Driving License)सेवा का वर्चुअली शुभारम्भ किया। नई व्यवस्था शुरू होते ही ये युवाओं में ज्यादा लोकप्रिय हो गई। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस सेवा शुरू होने से अब तक दो महीने से भी कम समय में 1,01,389 आवेदकों ने ऑनलाइन मोड में लर्निंग लाइसेंस के लिए आवेदन किया है इनमें से 92,123 ने ऑनलाइन टेस्ट दिया जिसमें  81,605 आवेदकों ने टेस्ट पास किया जिसे परिवहन विभाग ने लर्निंग लाइसेंस जारी कर दिए।

ये भी पढ़ें – Electricity Bill : बिजली उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खबर- ऐसा किया तो होगी कार्रवाई

परिवहन विभाग इस सेवा को अपनाने वाले आवेदक इसे बहुत कारगर मान रहे हैं , उनका मानना है कि इससे ना सिर्फ समय और पैसे की बचत हो रही है बल्कि परिवहन विभाग के चक्कर लगाने और लम्बी लाइन में लगने से भी छुटकारा मिल रहा है।  साथ ही परिवहन कार्यालयों में दलालों, भ्रष्टाचार से मुक्ति भी मिल रही है। ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस सेवा पूरी तरह पारदर्शी है इसमें आवेदक अपने आवेदन की हर स्टेज को खुद मोबाइल पर भी देख सकता है।

ये भी पढ़ें – MP Transport : परिवहन विभाग ने जारी किया Whatsapp नंबर, भेज सकते है ओवरलोडिंग की सूचना

उधर परिवहन विभाग ने एक बैठक लेकर कॉमन सर्विस सेन्टर (CSC) तथा एम.पी. ऑनलाइन के प्रभारियों से भी अनुरोध किया है कि प्रदेश भर में फैले हुए उनके 50,000 से अधिक केंद्रों पर ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस के लिए आवेदन प्रक्रिया को शीघ्र स्वीकृति प्रदान करें ताकि दूरस्थ अंचलों के आवेदक भी इसका लाभ उठा सकें ।