नीमच: जावद के इतिहास में 10 मुमुक्षु एक साथ पहली बार लेंगे जैन भगवती दीक्षा, देशभर के हजारों लोग बनेंगे साक्षी

Sanjucta Pandit
Updated on -

Neemuch News : नीमच जिले के जावद नगर में 22 जनवरी को दीक्षा समारोह का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें देश भर के हजारों लोग साक्षी बनेंगे। इससे पहले आचार्य रामेश के सानिध्य में प्रार्थना, प्रवचन, ज्ञान चर्चा, मांगलिक, प्रतिक्रमण पौषद संवर जैसी आध्यात्मिक गतिविधियों के कारण जावद नगर तीर्थ बन गया है। जिले में चातुर्मास में एक साथ 5 दीक्षांत घोषित की गई थी जो बढ़ते-बढ़ते 10 दीक्षाएं हो गई हैं। गुरूवर के नेश्राय में एक साथ 10 दीक्षाओं का यह ऐतिहासिक व पहला बड़ा प्रसंग है। बता दें कि ऐसा बड़ा धार्मिक समागम पहली बार होने जा रहा है।

विदेशों में भी हो चुका है संघ का विस्तार

भगवान महावीर स्थानकवासी परम्परा में आचार्य हुकमीचन्द की सम्प्रदाय अनूठी है। यह सम्प्रदाय व इसके वर्तमान आचार्य श्रीरामेश की साधु संतों की क्रिया, धर्म, आराधना, आगमन, सम्मान व कठोर होने से पृथक पहचान बनी हुई है जोकि साधु जीवन शैली में उदारता का समर्थक नहीं है। साधुमार्ग जैन संघ बीकानेर राष्ट्रीय स्तर पर इस सम्प्रदाय की व्यवस्था व प्रबंधन को शासित करता है। वर्तमान आचार्य श्री रामेश ने देशभर में हजारों किमी पैदल चलकर संघ ने बड़ी उपलब्धियां हांसिल की है। साधुमार्ग जैन संघ का विस्तार देश के बाहर विदेशों में भी हो चुका है।

 

नीमच से कमलेश सारडा की रिपोर्ट


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News