मनासा में ऑक्सीजन प्लांट बनकर तैयार, 30 मई को मुख्यमंत्री शिवराज करेंगे वर्चुअल लोकार्पण

नीमच जिले में मध्यप्रदेश का तहसील एवं ब्लॉक स्तर का सबसे पहला प्लांट बनकर तैयार हो गया है। जिसका मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान वर्चुअल लोकार्पण करेंगे।

नीमच, कमलेश सारडा। मध्यप्रेदश (Madhya Pradesh) में तहसील एवं ब्लॉक स्तर पर सबसे पहले स्थापित होने वाला ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) मनासा में बनकर तैयार हो गया है। 30 मई को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) इसका वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण कार्यक्रम दोपहर 2.30 बजे होगा।

यह भी पढ़ें:-बाल विमर्श में बच्चों से बोले एसपी, ‘जो छुपकर किया जाए वही होता है गलत कार्य’

मनासा में करीब 35 बेड का कोविड सेंटर बना हुआ है। कोरोना संकट में ऑक्सीजन की सबसे ज्यादा कमी देखी जा रही है। ऐसे में विधायक मारू ने विधायक निधि एवं जनसहयोग से ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की योजना बनाई। विधायक मारू ने नगर के विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक, व्यापारिक संगठन और गणमान्य नागरिकों के साथ बैठक की ओर कोविड सेंटर पर जनसहयोग ओर विधायक निधि से ऑक्सीजन प्लांट की बात कही। सबसे पहले विधायक मारू ने 25 लाख की विधायक निधि जारी की। सांसद सुधीर गुप्ता ने भी ऑक्सीजन प्लांट स्थापना के लिए 10 लाख की राशि जारी कर दी। वहीं आमजन का भी भरपूर सहयोग मिला। देखते ही देखते दानदाताओं से करीब 33 लाख 833 रुपए की राशि प्राप्त हो गई। राशि जारी होने के साथ ही प्लांट का काम भी शुरू हो गया। आज की स्थिति में प्लांट बनकर तैयार हो गया है। कंपनी विशेषज्ञ द्वारा इसकी टेस्टिंग की जा रही है। प्रथम ट्रायल भी सफल रहा। 30 मई को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान इसका वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। जिसकी शुरुआत कन्यापूजन के साथ होगी।

इनकी मौजूदगी में होगा ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। इस दौरान कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, सांसद सुधीर गुप्ता, नीमच विधायक दिलीपसिंह परिहार, मनासा विधायक अनिरुद्ध (माधव) मारू, भाजपा जिलाध्यक्ष पवन पाटीदार, कलेक्टर मयंक अग्रवाल, एसपी सूरज वर्मा विशेष अतिथि के रूप में प्लांट पर उपस्थित रहेंगे।

325 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन

मनासा कोविड सेंटर पर करीब 50 लाख को लागत से बने इस ऑक्सीजन प्लांट की कैपेसिटी 325 लीटर पर मिनट ऑक्सीजन देने की हैं। जिससे की 75 सिलेंडर प्रतिदिन भरे जा सकेंगे और 50 बेड पर सीधे प्रतिदिन ऑक्सीजन दे सकेंगे।

60 बेड का ड्रोम युक्त कोविड सेंटर

वर्तमान में मनासा में 35 बेड का कोविड सेंटर चल रहा है। यहां 60 बेड का ड्रोम वाला अस्थाई कोविड सेंटर भी बनाया जा रहा। जिसका कार्य प्रगति पर है। उक्त अस्थाई कोविड सेंटर मे 15 बेड बच्चों, 15 महिलाओं के लिए रिजर्व रहेंगे। इस तरह मनासा मुख्यालय पर करीब 100 बेड वाला कोविड सेंटर हो जाएगा।