लोड सेटिंग के नाम पर अघोषित बिजली कटौती से किसानों के हाल बेहाल

Avatar
Published on -

NEEMUCH FARMER NEWS : नीमच जिले की जावद विधानसभा क्षेत्र के किसान रविवार को सड़क पर उतर आए, अघोषित बिजली कटौती से परेशान किसानों ने सरकार को चेतावनी दे डाली, ग्राम डोराई, चामुंडिया,सांडा, मुकेरा,बल्दरखा, हाथीपुरा,ऊमर, नीम का खेडा, गुंजालिया, बधावा, देवरिया, रतनगढ ग्रामीण फीडर के खेतो की विद्युत आपूर्ति बिना किसी पूर्व सूचना एवं किसी ठोस कारण के पिछले कई दिनों से लोड सेटिंग के नाम पर बार बार काटी जा रही है। पीडित किसानों के अनुसार उन्हे ऐसा लग लग रहा है। कि हमसे तो राम और सरकार दोनों रूठ गए हैं। अब हम किससे गुहार लगाए।

आदेश को ठेंगा
मुख्यमंत्री के आदेश को ठेंगा बताते हुए ग्रामीण क्षेत्रो में खेतों पर 10 घंटे की जगह 6 एवं 7 घंटे ही बिजली आपूर्ति की जा रही है। एक तरफ जहां इंद्रदेव की बेरुखी के चलते अपनी खराब हो रही फसलों को बचाने के लिए किसान शिघ्र बारिश की आस में टकटकी लगाकर देख रहे हैं।ऐसे समय में किसान अपने खेतों में लगी ट्यूबवेल एवं कुओं से मोटर पंप के सहारे किसी तरह सिंचाई कर अपनी मुरझाई फसलों को बचाने का जतन कर रहे हैं। ऐसे में बिना किसी ठोस कारण एवं पूर्व सूचना के पिछले कई दिनों से ग्रामीण क्षेत्रो के खेतों की विद्युत आपूर्ति को बार बार बंद कर दिए जाने से सैकड़ो किसानों का आक्रोश अचानक विद्युत मंडल के खिलाफ फूट पड़ा और बड़ी संख्या में क्षेत्र के आक्रोशित किसानों ने रतनगढ़ विद्युत मंडल कार्यालय का घेराव कर अधीक्षण यंत्री महेश ठाकुर को ज्ञापन सौंपकर तुरंत विद्युत आपूर्ति शुरू करने की मांग की।

मांगों के साथ दी चेतावनी 

सभी ट्रांसफार्मरों की 11 के.वी.की पूरानी केबल को हटाकर वहां नई केबल लगाने,सभी ट्रांसफार्मरो की इंसुलेटर एवं डिस्क नई डालने,सभी घरों की केबल नई डाल कर बार-बार जलने की समस्या से निजात दिलाने, घरो के एवरेज बिल के नाम पर आ रही अधिक राशि को कम किए जाने,छतो के पास झूल रहे 11 केवी विद्युत तार को पोल लगाकर ऊंचा करने, विद्युत सामग्री जैसे ट्रांसफार्मर की केबल,इंसुलेटर, डिस्क, तार, खूटियां (डि.पी.) आदि के पैसे विद्युत विभाग किसानों से नहीं मांगते हुए, खराब होने पर चेंज करने, बिजली आपूर्ति बंद एवं चालू होने का समय निर्धारित कर बढाने आदि की मांग करते हुए मांगे नहीं मानने पर उग्र आंदोलन करने की चेतावनी देते हुए कहा कि आंदोलन से होने वाले नुकसान की जवाबदारी विद्युत मंडल के जिम्में रहेगी। इस दौरान जिला कलेक्टर नीमच के नाम ज्ञापन टप्पा तहसील कार्यालय, एवं पुलिस थाना रतनगढ़ पर भी दिया।

किसानों के लिए दोहरी मार 

इस दौरान  ग्रामीण क्षेत्र के किसानो के प्रतिनिधि मंडल मे बडी संख्या में ग्रामीण किसान मौजूद थे। इस संदर्भ में ग्राम चावंडिया के युवा किसान विनोद धाकड़ ने बताया कि हमारे क्षेत्र के खेतों में पिछले कई दिनों से बिजली कटौती की जा रही है। जिससे किसान अपने खेतों में सिंचाई नहीं कर पा रहे हैं। पूर्व में भी हमने ज्ञापन दिया लेकिन कोई निराकरण नहीं निकला। आज हम सभी किसानों ने फिर से अधीक्षण यंत्री को विद्युत मंडल जावद, थाना प्रभारी रतनगढ़, टप्पा तहसीलदार एवं जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन देकर समस्या के समाधान का निवेदन किया।अन्यथा समस्या का निदान नहीं होने पर शीघ्र आंदोलन करेंगे। इस मामलें में  रतनगढ़ विद्युत मंडल में ए.ई. के पद पर पदस्थ महेश ठाकुर ने बताया कि उच्च स्तर से ही बिजली की आपूर्ति में कमी होने के कारण कटौती हो रही है। इस कारण से कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत प्रदाय बाधित हो रहा है। शीघ्र ही उच्च अधिकारियों को अवगत कराकर समस्या का समाधान किया जाएगा।

 

नीमच से कमलेश सारडा की रिपोर्ट 


About Author
Avatar

Sushma Bhardwaj

Other Latest News