Ratlam : कर्फ्यू लगाने का उद्देश्य प्रदेश की जनता को अलर्ट मोड पर लाना – नरोत्तम मिश्रा

उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं के संदर्भ में अपना बयान देते हुए कहा कि जरूरत है नजर बदलने की नहीं तो नजरिया नहीं बदलेगा। यदि दृष्टि नहीं बदलोगे तो दृष्टिकोण नहीं बदलेगा।

रतलाम, सुशील खरे। प्रदेश के गृहमत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा (dr. narottam mishra) आज एक निजी कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए रतलाम (ratlam) आए। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं (criminal activities) के संदर्भ में अपना बयान देते हुए कहा कि जरूरत है नजर बदलने की नहीं तो नजरिया नहीं बदलेगा। यदि दृष्टि नहीं बदलोगे तो दृष्टिकोण नहीं बदलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार के पहले गडरिया गैंग था, जगजीवन गैंग था, ठोकिया गैंग था, नक्सली थे, सिमी के एजेंट थे उनका पूरा तंत्र था पिछले 15 सालों में अब वह कहीं पर भी नहीं दिखता। आगे उन्होंने कहा कि घटनाओं को माफियाओं से नहीं जोड़ कर देखा जा सकता। सुनियोजित तरीके से वसूली करने, वाले गैंगवार करने वाले सभी माफियाओं का हमने खात्मा कर दिया है और जो भी होंगे उन पर कार्रवाई अवश्य होगी।

यह भी पढ़ें… Gwalior News: आंकड़े देख अफसरों पर भड़के प्रशासक, लौटाया प्रस्तावित बजट

इस दौरान किसी रिपोर्टर ने उनसे सवाल किया कि कोविड-19 के नियमों का पालन आम जनता से तो कराया जाता है परंतु पक्ष और विपक्ष के लोग इस को भूल जाते हैं। इसके जवाब में उन्होंने कहा कि हम जागरण का काम कर सकते हैं और कर्फ्यू लगाने का उद्देश्य भी यही है कि लोग जिस मास्क को भूल गए हैं उसे वापस पहनें, सोशल डिस्टेंसिंग बनाएं सैनिटाइजर का उपयोग करें क्योंकि वैक्सीनेशन शुरू हो गया है और उसके बाद कोरोना का रिटर्न रूप आया है और हम अन्य कार्यों का काम इसलिए कराएं की जनता को अलर्ट मोड पर ला सके।

वाइट- नरोत्तम मिश्रा ( गृहमंत्री मप्र )