पुलिस को मिली बड़ी सफलता: मंडी व्यापारी के मुनीम के साथ हुई लाखों लूट की वारदात का खुलासा

पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे लूट की रकम भी बरामद कर ली है।आरोपियों ने 1 और लूट की वारदात करने का भी प्रयास किया था

रतलाम, सुशील खरे| रतलाम शहर में दिनदहाड़े पांच दिन पूर्व प्रताप नगर ओवरब्रिज पर मंडी व्यापारी के मुनीम से 9 लाख रुपए की लूट की वारदात का रतलाम पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे लूट की रकम भी बरामद कर ली है।आरोपियों ने 1 और लूट की वारदात करने का भी प्रयास किया था।

गुरुवार को पुलिस कंट्रोल रूम पर एसपी गौरव तिवारी ने प्रेस वार्ता कर रतलाम पुलिस को मिली सफलता की जानकारी दी। एसपी ने बताया कि पूर्व मे 27 अक्टूबर को जितेंद्र जैन पिता मोहन लाल जैन जो कृषि मंडी मे राजेश बम्बोरिया के लिए मुनीम का कार्य करते हैं।अपने मित्र कीर्ति शर्मा के साथ.बैंक से किसानों की भुगतान करने हेतु नगद राशि लेकर बैंक से मंडी की और जा रहे थे। रास्ते में प्रताप नगर ब्रिज पर फरियादी पर 2 अज्ञात व्यक्तिओ द्वारा आंखों में मिर्ची डालकर लूट करने का प्रयास किया परंतु सफल नहीं हुए।

इसी प्रकार से 07 नवम्बर को कृषि उपज मंडी रतलाम में महादेव ट्रैडर्स में मुनीम अशोक जायसवाल दोपहर करीब 2 बजे बैंक से 9 लाख रूपए निकाल कर किसानो को वितरण करने देने के लिए जा रहे थे ,तभी रास्ते मे प्रताप नगर ब्रिज पर स्कूटी पर सवार 2 अज्ञात व्यक्तिओ द्वारा फरियादी की आंखों में मिर्ची डालकर फरियादी के पास के 9 लाख रूपय लूट लिए| जिस पर से थाना स्टेशन रोड पर धारा 392 का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।

एसपी तिवारी ने बताया कि दोनों घटित घटनाओं मे अत्यधिक समानता देखते हुए यह कार्य किसी गिरोह द्वारा किए जाने की आशंका थी व भविष्य मे भी इस प्रकार की घटना घटित होने की संभावना थी | भविष्य मे इस प्रकार की घटनाओ को रोकने हेतु शहर की सीमा की नाके बंदी व सघन वाहन चेकिंग जैसे कदम उठाए गए। उक्त सनसनीखेज घटना की गंभीरता को देखते ठुए पुलिस अधीक्षक द्वारा साइबर सेल रतलाम व थाना स्टेशन रोड की टीम का गठन किया। पुलिस ने बताया कि गठित टीम द्वारा मुखबिर तंत्र, वैज्ञानिक विधाए व अन्य तकनीकी सहायता से अज्ञात आरोपीओ की तलाश हेतु कठोर प्रयास किए गए व क्षेत्र मे कई स्थानों पर टीम बनाकर संयुक्त दबिश दी गई |
जांच में उक्त दोनों घटनाओ को अंजाम देने वाते आरोपी सूरजपिता देवीसिंह उम्र 23 वर्ष निवासी ओसवाल नगर और मोंटी पिता संजय निवासी द्वारा वारदात किया जाना ज्ञात हुआ। पुलिस ने आरोपी सूरज को दबिश देकर गिरफ्तार किया, जिसने लूट की घटना के संबंध में पूछताछ करते दोनों के द्वारा घटना को घटित करना स्वीकार किया व लूट की कुल 12 हजार की राशि सूरज से जप्त की गई।

पुलिस के अनुसार आरोपी से घटना के बारे मे पूछताछ करने पर आरोपी द्वारा बताया गया कि कीर्ति शर्मा नाम के व्यक्ति के साथ मिलकर लूट करने की योजना बनाई थी। कीर्ति शर्मा कृषि मंडी मे पहले कार्य करता था व मंडी के व्यापारी व मुनीम की जानकारी रखता था और रूपये के लेनदेन करने वालों की सूचना दिया करता था। सूचना के उपरांत आरोपी सूरज ने अपने मित्र मोंटी के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया।

घटना में और तथ्यों की जानकारी मिलने व आरोपियों का पता चलने पर टीम बनाकर दबिश दी गई और आरोपी कीर्ति शर्मा को गिरफ्तार किया गया। जिसने अपने मित्र दीपक शर्मा के साथ मिलकर लूट की राशी को गोदाम मे छुपा कर रखा था। आरोपी कीर्ति शर्मा से लूट की 1 लाख 75 हज़ार रूपये की राशि व आरोपी दीपक शर्मा से 6 लाख 50 हज़ार की राशि को जप्त किया गया । अन्य स्थान पर दबिश देकर आरोपी मोंटी को भी गिरफ्तार किया गया, जिससे लूट की 13 हजार रूपए की राशि जप्त की गई।

इस प्रकार प्रकरण में अभी तक कुल 4 आरोपियों कों गिरफ्तार किया गया है,जिनसे लूट की कुल 8 लाख 50 हजार रुपए की राशि को जप्त किया जा चुका हैं।

इनकी रही भूमिका
प्रकरण के खुलासे में थाना प्रभारी स्टेशन रोड किशोर पाटनवाला, एसआई नागेश यादव,अनुराग यादव, एसआई मुकेश ससतिया,विपुल भावसर, हिम्मत सिंह, मनमोहन शर्मा, यशवंत जाट, मनीष यादव, बलराम पाटीदार की सराहनीय भूमिका रही, जिसमें यशवंत जाट की भूमिका सर्वाधिक महत्वपूर्ण रही। जिन्हें उचित पुरूस्कार से पुरूस्कृत किया जाएगा।

MP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here