एक तरफ़ आज़ादी का जश्न ,दूसरी तरफ सड़क पर नवजात का जन्म, बदहाली की रौंगटे खड़ी करती तस्वीरें

सतना,पुष्पराज सिंह बघेल। एक तरफ जहां देश आजादी की 75 वी वर्षगाँठ मना रहा है वही सतना से आजाद भारत की ऐसी बदहाल तस्वीर सामने आई है,कि देखने वालों के रोंगटे खड़े हो जाये। इस तस्वीर ने सरकारी सिस्टम की भी पोल खोल दी है, मामला मध्य प्रदेश के सतना जिले के कोटर थाना अंतर्गत बिहरा गाँव की है, जहाँ आदिवासी बस्ती तक पहुँच मार्ग न होने के चलते एक नवजात को सड़क पर ही जन्म लेना पड़ा है। बदहाल रास्ते के चलते एक प्रसूता ने रास्ते मे ही नवजात को जन्म दे दिया नवजात भले ही आजादी की वर्षगाँठ में जन्मा लेकिन बदहाल सिस्टम से उसका जन्म लेते ही सामना हो गया। फिलहाल प्रसूता व नवजात को कोटर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया है,जहां दोनों की हालत सामान्य है।

जबलपुर में कोरोना का अलर्ट अलार्म, सावधानी सतर्कता बेहद ज़रूरी

एक तरफ़ पूरा देश आजादी की 75 वी वर्षगाँठ मना रहा है, वही दूसरी तरफ़ नवजात कीचड़ से भरी सड़क के किनारे खेत मे जन्म ले रहा है, सतना जिले के कोटर थाना अंतर्गत बिहरा गाँव की यह प्रसूता नीलम आदिवासी महिला है, जिसनें नवजात को गाँव के बगीचे में हो जन्म दे दिया, दरअसल सड़क खराब होने के चलते जननी तो आई लेकिन प्रसूता के पास तक नही पहुँच सकी नतीजा जननी तक पहुँचते पहुँचते प्रसूता ने गाँव के बगीचे में ही नवजात को जन्म दे दिया, आजादी के पर्व में गाँव की बदहाल सड़कों की दांस्ता बताने के लिए ये तस्वीर काफी है जो बेहद ही शर्मसार कर देने वाली है। हालांकि राहत की बात है कि जैसे तैसे जच्चा बच्चा दोनो को कोटर स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां अब दोनो की स्थिति सामान्य है।