Satna News : 11 हजार की रिश्वत लेते सब इंजीनियर को लोकायुक्त ने रंगे हाथों पकड़ा

लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।

sub engineer

Satna News : रिश्वतखोरी पर जीरो टोलरेंस के निर्देश के बावजूद सरकारी अधिकारी कर्मचारी रिश्वत लेने से भय नहीं खा रहे। उन्हें ना तो अपनी प्रतिष्ठा जाने का डर है और ना ही नौकरी पर खतरे की चिंता। आज फिर लोकायुक्त (Lokayukta Police) की रीवा टीम ने सब इंजीनियर को 11 हजार रुपये की रिश्‍वत लेते रंगे हाथों दबोच लिया।

क्या है पूरा मामला

रीवा लोकायुक्त पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, फरियादी इमाम खान ने लोकायुक्त कार्यालय में एक शिकायती आवेदन दिया था, जिसमें बताया गया कि उनके द्वारा नगर पालिका निगम में प्रिकास्ट कार्य (नाली ढकने का कार्य) किया गया था। जिसका मूल्यांकन करने आरोपी राजेश गुप्ता 33000 की मांग कर रहा था। जिसमें से 22 हजार रुपये शिकायतकर्ता आरोपी को पहले दे चुका है। मगर बकाया 11,000 रुपए की मांग की जा रही थी।

शिकायती आवेदन के बाद लोकायुक्त ने फरियादी को एक रिकॉर्डर दिया और रिश्वत मांगे जाने की पुष्टि होने पर ट्रेप की प्लानिंग की। साथ ही शिकायत पर नगर पालिका निगम उपयंत्री राजेश गुप्ता को ट्रैप किया गया। आज गुरुवार को जैसे ही ठेकेदार इमाम खान ने जयस्तम चौक स्थित नगर निगम के जोनल ऑफिस पहुंचे और सब इंजीनियर राजेश गुप्ता को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा। फिलहाल लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।

सतना से पुष्पराज सिंह बघेल की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है।वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”