सीहोर/नसरुल्लागंज, अनुराग शर्मा। मैं बधाई देना चाहता हूं कार्तिकेय को, हर नौजवान चाहता है कि अपना मार्ग प्रशस्‍‍‍त हो और कार्तिकेय (Kartikey)उस परिवार से है, जिन्होंने एक पीढ़ी नहीं दो पीढ़ी नहीं, लेकिन अपना पूरा जीवन जनसेवा के लिए समर्पित किया है। मैं कार्तिकेय में एक ऊर्जा देखता हूं केवल नेतृत्व कार्य की नहीं , लेकिन नेतृत्व करने की क्षमता के साथ सभी लोगों को एक साथ एक ही माला में पिरोकर एकता के साथ केंद्र की विकास की संभावना को मैं देखता हूं। यह बात रविवार को नसरुल्लागंज के उत्कृष्ट मैदान पर प्रेम सुंदर मेमोरियल क्रिकेट टूर्नामेंट और  रोजगार मेले का शुभारंभ करने पहुंचे राज्‍यसभा सदस्‍य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने (Jyotiraditya Scindia) अपने संबोधन में कही।उन्‍होंने कमान पर तीर साधा और मांदल पर थाप भी दी।

उन्‍होंने कहा आज रोजगार मेले का उद्घाटन हमने किया। क्रिकेट तो वैसे ही एक मेला है। दो चीजें देश को जोड़ती है, एक राष्ट्रवाद की साेच, राष्ट्रवाद का संकल्प दूसरा क्रिकेट का प्रेम इस देश को जोड़कर रखता है। आज कर्तिकेय (Kartikey) ने जो यहां करके दिखाया है हर पंचायत में एक टीम को संगठित करके यह जो प्रतियोगिता आयोजित की, उसमें से जो निचोड़ निकला है, इन 14 टीमों की और जब यह टीम अपने हुनर का प्रदर्शन करेंगी, वहीं दूसरी तरफ रोजगार का मेला। यहां कार्तिकेय (Kartikey) ने एक समावेश व संगम किया है। मैं इन खिलाड़ि‍यों को बधाई देना चाहता हूं, जिन्होंने शुरुआत गांव से की है, लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि आने वाले समय में बुधनी व नसरुल्लागंज की माटी से भी खिलाडी उभरेंगे, जो प्रदेश व देश का नाम करेंगे। मैं स्टेट आफिसर को कहना चाहता हूं कि यह बुधनी मुख्यमंत्री का विधान सभा क्षेत्र है। अगले साल हर पंचायत में मैटिंग में विकेट लगना चाहिए। टेनिस बाल नहीं सीजन बाल का उपयोग होना चाहिए, वहीं से जो प्रशिक्षण आपको मिलेगा। इस मैदान को भी भव्य बनाया जाएगा।

युवाओं के बीच दिखा सिंधिया का अलग अंदाज, कार्तिकेय को लेकर कही ये बड़ी बात

युवाओं के बीच दिखा सिंधिया का अलग अंदाज, कार्तिकेय को लेकर कही ये बड़ी बात

 

वहीं कार्तिकेय चौहान (Kartikey Chauhan)ने कहा कि यह प्रतियोगिता प्रतिभाओं को निखारने के लिए है। वहीं दूसरी तरफ इसका मकसद हमारे युवाओं को दिशा दिखाने का भी है। हमारे युवा कैसे मुख्यधारा से जुड़ पाए। कैसे अपनी जीवन की दिशा को तय कर पाए। इसके लिए हम सेज विश्वविद्यालय के शुक्रगुजार है, जिन्होंने करियर काउंसलिंग के माध्यम से बच्चों को यह बताने का प्रयास किया है कि केवल इंजीनियरिंग, डॉक्टरी व वकालत में ही अवसर नहीं है। अन्य विकल्प भी है, जो आठ दिन में रोजगार मेले में युवाओं को मिलेंगे।आठ दिनों तक रोजगार मेला 14 से 21 फरवरी तक लगेगा, जिनमें युवाओं का साक्षात्कार होगा। हमारा लक्ष्य है कि इसमें 500 से 1000 युवाओं को रोजगार मिलेगा। यहां युवा खड़े हैं। यदि किसी गरीब के घर रोटी का इंतजाम भी इस आयोजन के माध्यम से कर दिया, तो मैं अपने को भाग्यशाली समझूंगा। इस दौरान मप्र शासन के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी और पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, क्षेत्रीय सांसद रमाकांत भार्गव, कार्यक्रम को स्पोंसर सेज विश्वविद्यालय के कुलपति संजीव अग्रवाल, गुरूप्रसाद शर्मा, रघुनाथ भाटी, राजेंद्र सिंह राजपूत, जिला अध्यक्ष रविमालवीय सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

युवाओं के बीच दिखा सिंधिया का अलग अंदाज, कार्तिकेय को लेकर कही ये बड़ी बात