रिश्वत लेते वन रक्षक रंगे हाथों पकड़ाया, जब्त डंपर वाहन छुड़ाने के लिए मांगे थे पैसे

सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार। जिले में एक रिश्वतखोर वन रक्षक को लोकायुक्त ने तब धर दबोचा जब वह आवेदक से रिश्वत ले रहा था। वनरक्षक पीड़ित से नौडिहवा चौकी में जब्त डंपर वाहन को छुड़ाने के लिए रिश्वत की मांग की थी। कार्रवाई के बाद जिले के वन अमले में खलबली मची है। पकड़े गए वन रक्षक के खिलाफ लोकायुक्त ने भष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

Morena News : युवक के साथ 3 दोस्तों ने किया अप्राकृतिक कृत्य, मामला दर्ज

मामला सोनघडियाल वन चौकी बीछी के से जुड़ा है। शिकायतकर्ता प्रदीप कुमार पाण्डेय पिता शारदा प्रसाद पाण्डेय 36 वर्ष निवासी घोरावल जिला सोनभद्र उत्तर प्रदेश ने लोकायुक्त रीवा में शिकायत किया था कि सोनघडियाल वन चौकी बीछी के वनरक्षक के द्वारा उसका जब्त डंपर वाहन को पुलिस चौकी नौडिहबा से छुड़वाने के एवज में 10000 रुपये की मांग की गई है।

कोरोना गाइडलाइन : अब श्रीराम चल समारोह की भी रहेगी अनुमति, रामलीला भी होगी, लेकिन नियमों का करना होगा पालन

बता दें कि जिले के वन चौकी क्षेत्र बीछी में पदस्थ वन रक्षक सुप्रीत श्रीवास्तव पिता एसपी श्रीवास्तव 35 वर्ष निवासी ग्राम घरौली पोस्ट निगाही जिला सिगरौली को लोकायुक्त ने 10 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है। शिकायतकर्ता प्रदीप पाण्डेय रिश्वत की रकम वन रक्षक सुप्रीत श्रीवास्तव को दे रहा था, जहां मौजूद लोकायुक्त निरीक्षक डीएस मरावी एवं उनकी 15 सदस्यीय दल ने वन रक्षक को रंगे हाथों पकड़ लिया और ट्रेपिंग की कार्रवाई पूरी की है।