Singrauli News : पुलिस प्रशासन की डायल 100 ही कर रही अवैध वसूली

इस मुद्दे की आवाज उठाने वाले लोगो की आवाज दबाने के लिए थाना प्रभारी माड़ा अपने करीबी पुलिसिया पत्रकारो को लगाकर आवाज उठाने वाले को टारगेट करने व आवाज दबाने का कार्य कर रहे हैं।

सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार। मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले के माड़ा थाना की डायल 100 गाड़ी के पुलिसकर्मी, खुटार में लगने वाले साप्ताहिक बकरी बाजार मे आने वाले व्यापारियों से बाकायदे सड़क किनारे थाने की डायल 100 गाड़ी लगाकर हर व्यापारी से जबरदस्ती पैसे लेते हैं। व्यापारियों ने बताया कि पैसे न देने पर पुलिसकर्मी गाली गलौज करते हुए थाने में गाड़ी ले जाने की धमकी देते हैं। वही इस मामले में पूर्व में माड़ा थाना प्रभारी को सूचना दी गई थी लेकिन थाना प्रभारी मामले पर कार्यवाही करने की बात कर अपना पलड़ा झाड़ लिया था। लेकिन माड़ा थाने की डायल 100 का वसूली का धंधा बंद नही हुआ।ऐसे में माड़ा थाना प्रभारी की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में है कि आखिर वो जानकर भी अनजान क्यों बने हुए हैं? यह सब देखते हुए ऐसा प्रतीत होता है कि माड़ा थाना प्रभारी ने ही डायल 100 को वसूली के लिए खुली छूट दे रखी है।

यह भी पढ़ें – Morena News : बिजली कनेक्शन काटने गए विद्युत अमले पर ग्रामीणों ने किया हमला

जानकारी के अनुसार अगर कही कोई घटना घटित हो जाने पर माड़ा की डायल 100 को फोन करने के बाद, घंटो इंतजार के बाद भी डायल 100 घटनास्थल पर नही पहुंचती। लेकिन अगर बात उगाही की हो तो समय से ही ये उगाही करने पहुंच जा रही है। व्यापारियों से इस तरफ की खुली लूट को डकैती नही तो और क्या कहेंगे? अगर कोई आम व्यक्ति व्यापारियों से उगाही करता तो अब तक डैकती सहित न जाने कितने धाराएं लगाकर माड़ा पुलिस के द्वारा अंदर कर दिया गया होता। लेकिन माड़ा थाना की पुलिस वर्दी का धौंस दिखाकर खुलेआम डायल 100 में उगाही कर रही है, लेकिन यह किसी को दिखाई नही देता।

यह भी पढ़ें – Mandi bhav: 18 फरवरी 2022 के Today’s Mandi Bhav

28 दिन बाद भी माड़ा थाना प्रभारी ने नही की कार्यवाही, आवाज उठाने वाले को साहब के पुलिसिया पत्रकार देते हैं धमकी
सिंगरौली जिले के माड़ा थाने में एक फरियादी द्वारा 22 जनवरी को आवेदन दिया गया था। लेकिन साहब ने फरियादी के आवेदन पर अब तक कोई कार्यवाही नही किया है। वहीँ जब इस मामले में पता किया गया तो बिट प्रभारी ने कहा कि उनके पास ऐसा कोई आवेदन नही आया है। यहाँ ताज्जुब की बात यह है कि एक फरियादी माड़ा थाना में आवेदन देता है कि उसे न्याय मिलेगा लेकिन राजनीति में ऊंची पकड़ रखने वाले माड़ा थाना प्रभारी के कार्यकाल में फरियादी को 28 दिन बाद भी न्याय नही मिल रहा।

यह भी पढ़ें – India-Pak News: भारत ने 12 पाकिस्तानी कैदियों को वाघा के रास्ते स्वदेश भेजा

इस मुद्दे की आवाज उठाने वाले लोगो की आवाज दबाने के लिए थाना प्रभारी माड़ा अपने करीबी पुलिसिया पत्रकारो को लगाकर आवाज उठाने वाले को टारगेट करने व आवाज दबाने का कार्य कर रहे हैं। माड़ा थाना प्रभारी के पुलिसिया पत्रकारो द्वारा फरियादी को ही आरोपी बता दिया जाता है। माड़ा थाना प्रभारी भी खुलेआम आवाज उठाने वाले लोगो को जेल में डाल देने की धमकी देते हैं। एक तरफ तो मध्यप्रदेश के गृहमंत्री व IG रीवा आम जनता से अच्छे से पेस आने की नसीहत देते हैं, लेकिन माड़ा थाना प्रभारी IG रीवा व गृहमंत्री के बातो की अवहेलना कर फरियादियों को ही धमकी देते हैं।

यह भी पढ़ें – Bird Flu Alert : कोरोना अभी थमा भी नहीं कि बर्ड फ्लू ने दे दी दस्तक

गरीब जनता से उगाही कर व्यापारियों के पेट पर लात मार रही माड़ा पुलिस की डायल 100 – सीपीआई
सीपीआई पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कामरेड संजय नामदेव ने माड़ा पुलिस के डायल 100 के द्वारा बकरी व्यापारियों से वूसली के मामले में माड़ा पुलिस की निंदा करते हुए कहा है कि माड़ा पुलिस के द्वारा छोटे छोटे बकरी व्यापारियों से उगाही करना और आम जनता गरीब को वर्दी का धौस दिखाकर उन्हें डरा धमका कर वसूली करना व्यापारियों के पेट पर लात मारने का काम कर रहे हैं। सिंगरौली पहला जिला होगा जहां डायल 100 लोगो की सहायता कम वसूली ज्यादा करती है। वहीँ संजय नामदेव ने कहा है कि वो इस मामले पर पुलिस अधीक्षक महोदय से मिलकर उन्हें अवगत कराकर कार्यवाही की मांग करेंगे।