टीकमगढ़/आमिर खान

कोरोना के चलते टीकमगढ़ जिले में मस्जिदों के अंदर अब तक केवल 5 लोगों द्वारा ही नमाज पढ़ने के नियम थे, लेकिन सरकार द्वारा छूट दिए जाने के बाद शुक्रवार को जुमा की नमाज मस्जिदों में पढ़ी गई, जिसमें 50 नमाज़ी शामिल हुए। इस दौरान सोशल डिस्टेंस का विशेष तौर पर ख्याल रखा गया।

अंजुमन सदर अब्दुल रज्जाक ने बताया कि हमारा देश इन दिनों कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी के साथ जूझ रहा है। यह बीमारी किसी का चेहरा और समाज देखकर नहीं फैल रही। इसके लिए केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार के नियमों का सभी पालन कर रहे हैं। टीकमगढ़ मुस्लिम समाज भी सरकार के नियमों का पालन कर इस बीमारी से लड़ने के लिए लगातार तैयार है। बीते दिनों इसका जीता जागता उदाहरण ईद की नमाज के दौरान देखा गया था। जब टीकमगढ़ के लोगों ने ईद की नमाज अपने घरों में ही पढ़कर एक मिसाल कायम की थी। इसी तरह बीते दिन जिला कलेक्टर हर्षिता सिंह और एसपी अनुराग ने एक बैठक आयोजित की थी, जिसमें यह निर्णय लिया गया था कि इस बार जुमे की नमाज मस्जिदों में 50 नमाजियों के साथ अता की जाएगी। टीकमगढ़ जिले के सभी मस्जिदों में 50 नमाजियों के साथ शासन के नियमानुसार नमाज अता की गई। इस दौरान लोगों ने सोशल डिस्टेंस का विशेष ध्यान रखा।

सोशल डिस्टेंस के साथ 50 नमाजियों ने मस्जिद में अता की जुमे की नमाज