आबकारी के खेल की खुली पोल, एक की जगह बनाया 7 पेटी का मामला, आरोपी ने रो-रोकर सुनाई पीड़ा

tikamgarh-news-raised-question-on-excise-department-action

टीकमगढ़।आमिर खान। क्या आपने कभी सुना है कि किसी व्यक्ति पर फर्जी शराब ले जाने का केस बनाकर आबकारी टीम वाहवाही लूटने खुलासे करती है। इतना ही नहीं आबकारी के आलाकमान फर्जी स्क्रिप्ट भी तैयार कर मीडिया के समक्ष पेश कर देते हैं, लेकिन शायद उन्हें यह पता नहीं होता कि उनके द्वारा दी गई जानकारी की भी तहकीकात की जाती है। आज हम आपको आबकारी विभाग के एक नए खेल की कहानी बतातें हैं। 

दरअसल मामला है प्रदीप नामक युवक पर फर्जी अवैध शराब की संख्या से पेटी का मामला दर्ज करने का। आज आबकारी विभाग के उप निरीक्षक ने अपनी कार्यवाही के लिए एक प्रेस कांफ्रेस का आयोजन किया। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उन्होंने बताया कि प्रदीप योगी नाम का एक व्यक्ति चंदेरा गांव से अवैध शराब की पेटी लेकर आ रहा था, जिसे आबकारी की टीम ने धरदबोचा। आबकारी के उप निरीक्षक सियाराम अहिरवार ने जैसे ही यह बताया कि यह आरोपी अपनी साइन मोटरसाइकिल पर 07 देशी शराब की पेटी लेकर टीकमगढ़ आया था। उनकी इस बात पर शंका होना शुरू हो गई कि क्या सच में एक व्यक्ति शराब से भरी 07 पेटी एक मोटरसाइकिल पर ला सकता है। जबकि वही व्यक्ति उस मोटरसाइकिल को चला रहा हो। यह सब चर्चा चली रही थी कि अचानक वंहा जिला आबकारी अधिकारी एके सिन्हा भी पहुंच गए और वह मीडिया के लोगों से चर्चा करने लगे। इतने में ही अचानक आरोपी प्रदीप योगी बोल पड़ा और उसने सच सबके सामने रख दिया उसने बताया कि मैं चंदेरा से केवल एक पेटी लेकर आया था, मुझे झूठा फंसाया जा रहा है। यह सब देख मीडिया के लोगों ने अपने कैमरे चालू कर लिए और उसके इस बयान को रिकार्ड करना शुरू कर दिया। प्रदीप के यह सब बोलने पर जिला आबकारी अधिकारी एके सिन्हा और उप निरीक्षक सियाराम अहिरवार बगलें देखते नजर आए और चुपचाप खड़े रहे। मीडिया ने जैसे ही आबकारी अधिकारी से इसका जबाव मांगा तो वह बोले आरोपी अपने बचाव के लिए ऐसा बोलते हैं, जब उनसे पूछा क्या ये संभव है कि एक वाइक पर चालक 07 शराब की पेटी ला सकता है, तो वह गोलमोल जबाव देते नजर आए और उनके इसी गोलमोल जबाव ने उनकी पोल खोल दी।