जेल में कैदियों ने मनाया करवाचौथ, महिला बंदियों ने अपने बंदी पति के लिए रखा व्रत

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। महिलाये देश भर में करवा चौथ के दिन पत्नी अपने पति की लम्बी उम्र के लिए व्रत रखकर  चाँद निकलने पर पूजन करती है , लेकिन कानून की बेड़ियों में उलझी कई रिश्तो की डौर को चाँद निकलने तक का समय नहीं मिल पाया।  केंद्रीय भैरव गड़  जेल में करवा चौथ का सामूहिक पूजन रखा गया जिसमे 31  ऐसे केदियो ने भाग लिया जिनकी पत्निया भी बंदी के रूप में महिला वार्ड में बंदी है।

दतिया महोत्सव का आगाज 5 नवंबर से, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने लिया जायज़ा

उज्जैन के केंद्रीय भैरव गड़  जेल  अनोखा दृश्य दिखाई दिया, जिसमे 31 पुरुष कैदी की 32 पत्नियों ने एक साथ बैठकर करवा चौथ मनाया।  इसमें एक पुरुष केडी की दो पत्नियों ने भी एक साथ बैठकर अपने पति की लम्बी उम्र के लिए पूजन किया।  केंद्रीय जेल के डिप्टी जेलर सुरेश गोयल ने बताया की करवा चौथ का दिन था और  हमें पता लगा महिला जेल में ऐसी महिला बंदी बंद है जिनके पति पुरुष वार्ड में ही है इसी को लेकर हमने सामूहिक करवा चौथ के पूजन का आयोजन रखा था।  सभी को जेल प्रशासन की और से थाली ,पूजन सामग्री दिया, छलनी और गुड़ उपलब्ध करवाया गया। जेल में बंद कई पत्नी और पत्नी साथ सजा काट रहे है इन्ही 31 केदियो को करवा चौथ मनाने की परमिशन जेल प्रशासन ने दी।  एक जोड़ा ऐसा भी  दिखाई दिया जिसमें एक कैदी के दो पत्नी जेल में बंद थी और दोनों ने एक साथ बैठकर अपने पति का पूजन कर उसकी लम्बी आयु के लिए भगवन से प्राथना की और करवा चौथ में बैठे पतियों ने अपनी-अपनी पत्नियों को जल पिलाकर व्रत को खुलवाया। हालांकि जेल नियमो को लेकर जेल प्रशासन ने चाँद निकलने तक की छूट नहीं दी थी इसलिए समय से पहले ही पूजन करवाकर कार्यक्रम संम्पन्न करवा दिया।

जेल में कैदियों ने मनाया करवाचौथ, महिला बंदियों ने अपने बंदी पति के लिए रखा व्रत