कर्मचारियों को फिर मिलने वाली है बड़ी गुड न्यूज! 20000 से 50000 तक बढ़ेगी सैलरी, जानिए कैसे?

HRA 56900 रुपए x 27/100= 15363 रुपए महीना है तो 30% HRA होने पर 56,900 रुपए x 30/100= 17,070 रुपए महीना हो जाएगा।

6th pay commission da hike

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। 7th pay commission: केंद्रीय कर्मचारियों-पेंशनरों (Central government employees-Pensioners) का महंगाई राहत और महंगाई भत्ता 3 प्रतिशत बढ़ गया है और 1 मई को 34% डीए/डीआर और एरियर की मोटी रकम भी खाते में आने वाली है, ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि मोदी सरकार हाउस रेंट अलाउंस,ग्रेच्युटी, पीएफ और ट्रैवल अलाउंस में इजाफा कर सकती है।  अगर ऐसा हुआ तो कर्मचारियों की सैलरी में 20000 से ज्यादा का इजाफा देखने को मिलेगा। वही फिटमेंट फैक्टर बढ़ाने जाने की चर्चा है, जिसके बाद बेसिक सैलरी 26000 हो सकती है।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, DA में 3% की वृद्धि, मई में कितनी बढ़कर मिलेगी सैलरी, देखें कैलकुलेशन

केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 3 फीसदी की बढ़ोतरी के बाद अब 4 अन्य भत्तों में भी इजाफा होना तय माना जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मोदी सरकार जल्द 3-3 प्रतिशत यात्रा भत्ता और शहर भत्ता (House Rent Allowance-HRA) बढ़ा सकती है।वर्तमान में कर्मचारियों को 27%, 18% और 9% की दर से HRA मिल रहा है, संभावना जताई जा रही है कि X श्रेणी के कर्मचारियों के HRA में 3, Y श्रेणी कर्मचारियों के HRA में 2 फीसदी और Z श्रेणी के लिए 1 फीसदी HRA  वृद्धि की जा सकती है।इसके बाद यह 27% से बढ़कर 30% हो जाएगा, हालांकि यह तब होगा जब डीए 50 फीसदी पार करेगा। HRA 56900 रुपए x 27/100= 15363 रुपए महीना है तो 30% HRA होने पर 56,900 रुपए x 30/100= 17,070 रुपए महीना हो जाएगा यानि कुल अंतर: 1707 रुपए महीना होगा।सालाना HRA में 20,484 रुपए वृद्धि होगी।

TA, PF, Gratuity का भी मिलेगा लाभ

  • इसके अलावा प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) और ग्रेच्युटी (Gratuity) का भी लाभ मिल सकता है। केंद्रीय कर्मचारियों के मासिक पीएफ और ग्रेच्युटी की कैल्कुलेशन बेसिक सैलेरी और डीए से की जाती है। ऐसे में साफ है कि महंगाई भत्ता बढ़ने से पीएफ और ग्रेच्युटी बढ़ेगी। इसका सीधा फायदा केंद्रीय कर्मचारियों को होगा।
  • इसके अलावा ट्रैवल अलाउंस भी बढ़ोतरी हो सकती है।TA का कैलकुलेशन का फॉर्मूला देखें तो Total Transport Allowance = TA + [(TA x DA% )\/100] है।TPTA शहरों में लेवल 1-2 के लिए TPTA 1350 रुपए, 3-8 लेवल कर्मचारियों के लिए 3600 रुपए और 9 से ऊपर के लेवल के लिए यह 7200 रुपए होता है।
  • हायर ट्रांसपोर्ट अलाउंस वाले शहरों के लिए लेवल 9 और उससे ऊपर के कर्मचारियों को 7,200 रुपए दिया जाता है।अन्य शहरों के लिए TA भत्ता 3,600 रुपए और DA, लेवल 3 से 8 तक के कर्मचारियों को 3,600 प्लस डीए और 1,800 प्लस DA के साथ लेवल 1 और 2 के लिए 1,350 रुपए प्रथम श्रेणी शहरों के लिए और DA मिलता है, जबकि अन्य शहरों के लिए 900 रुपए प्लस DA मिलता है।

26000 हो सकती है बेसिक सैलरी

  1. इन भत्तों के अलावा कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर भी 2.57 से बढ़कर 3.68 फीसदी हो सकता है। अगर फिटमेंट फैक्टर बढ़ा तो बेसिक सैलरी 18000 से सीधे 26000 हो जाएगी।इसका लाभ 52 लाख कर्मचारियों को  चुंकी सैलरी में फिटमेंट फैक्टर का अहम रोल होता है, इसके कारण ही वेतन में ढाई गुना से अधिक की वृद्धि होती है।
  2. कर्मचारी की बेसिक सैलरी को 7वें वेतन आयोग के फिटमेंट फैक्टर 2.57 से गुणा करके निकाला जाता है। अगर फिटमेंट फैक्टर को 2.57 गुना से बढ़ाकर 3.68 गुना किया जाता है तो बेसिक सैलरी में 8000 का लाभ मिलेगा।
  3. यदि फिटमेंट फैक्टर बढ़ाता है तो भत्तों को छोड़कर उसकी सैलरी 18,000 X 2.57= 46,260 रुपए का लाभ होगा। 3.68 होने पर सैलरी 95,680 रुपये (26000X3.68 = 95,680) हो जाएगी यानि सैलरी में 49,420 रुपए लाभ मिलेगा।
  4. आखिरी बार साल 2016 में फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाया गया था और करीब 12000 की बढ़ोतरी की गई थी। इसी साल 7वां वेतन आयोग भी लागू हुआ था, उस समय कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी 6000 रुपये से सीधे 18,000 रुपये हो गई थी, ऐसे में DA 34% होने पर इसके बढ़ने की संभावना भी बढ़ गई है।
  5. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जून 2017 में 34 संशोधनों के साथ सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को मंजूरी देने के बाद एंट्री लेवल बेसिक पे 7,000 रुपये प्रति माह से बढ़ाकर 18,000 रुपये किया गया, जबकि उच्चतम स्तर यानी सचिव को 90,000 रुपये से बढ़ाकर 2.5 लाख रुपये किया गया, ऐसे में क्लास 1 के अधिकारियों के लिए शुरुआती वेतन 56,100 रुपये था।