Ayodhya में रामनवमी की तैयारियों में जुटा प्रशासन, करीब 25 लाख श्रद्धालुओं के आने की जताई जा रही उम्मीद

रामनवमी पर अयोध्या में 25 लाख श्रद्धालुओं के आने की संभावना जताई जा रही है। वहीं सुरक्षा की दृष्टि से मुख्य सचिव ने सभी अस्पतालों को अलर्ट मोड पर रहने का निर्देश दिया है।

Shashank Baranwal
Published on -
Ram Navami

Ram Navami 2024: अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर बनने के बाद इस बार की रामनवमी खास होने वाली है। 17 अप्रैल को रामनवमी का त्योहार अयोध्या समेत पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाएगा। इसके लिए प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था और चाक चौबंद को लेकर पूरी तैयारी करने में जुटी हुई है।

प्रमुख जगहों पर की जाएगी एबुंलेंस की व्यवस्था

अयोध्या में रामनवमी के त्योहार को लेकर प्रशासन आवश्यक कार्यों में जुट गया है। इस बार अयोध्या के प्रमुख जगहों पर लोगों की सुरक्षा के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था की जाएगी। वहीं रामनवमी के मेले की तैयारियों की समीक्षा को लेकर मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने बैठक की। इस दौरान अधिकारियों को जरूरी दिशानिर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा उन्होंने अधिकारियों से कहा कहा है कि रामनवमी के मेले में आने वाले किसी भी श्रद्धालु को किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए।

Continue Reading

About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।