सीएम का बड़ा फैसला, अब ये भी होंगे पेंशन के हकदार, खाते में आएंगे 3000 से 7000 तक रुपए

राज्य बनाने के आंदोलन में किसी भी तरह की भूमिका निभाने वालों को 3,500 रुपए से लेकर सात हजार रुपए तक की पेंशन और अन्य लाभ दिए जाएंगे।

pension

रांची, डेस्क रिपोर्ट। झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने बड़ी घोषणा की है। उन्होंने ऐलान किया है कि झारखंड को अलग राज्य बनाने के आंदोलन में किसी भी तरह की भूमिका निभाने वालों को 3,500 रुपए से लेकर सात हजार रुपए तक की पेंशन और अन्य लाभ दिए जाएंगे।झारखंड अलग राज्य की लड़ाई में शामिल आंदोलनकारियों का नये सिरे से चिन्हितिकरण का कार्य आरम्भ हो गया है। राज्य की हेमंत सोरेन सरकार ने झारखंड मंत्रालय में इससे जुड़े नये प्रपत्र का लोकार्पण किया।

यह भी पढ़े.. EPFO: कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, ब्याज दर घटी, केन्द्र ने दी मंजूरी, जानें कब खाते में आएगा पैसा?

सीएम हेमन्त सोरेन ने कहा कि झारखंड अलग राज्य आंदोलन के एक -एक आंदोलनकारी को पूरा मान- सम्मान और अधिकार देने का राज्य सरकार ने संकल्प ले रखा है। इस आंदोलन के अंतिम पंक्ति में शामिल आंदोलनकारियों को भी चिन्हित कर उनका हक दिया जाएगा। नया आवेदन प्रपत्र काफी सरल बनाया गया है, ताकि हर आंदोलनकारी आसानी से अपने दावे को आयोग के समक्ष समर्पित कर सके । उन्होंने आंदोलनकारी चिन्हितीकरण आयोग के “लोगो ” और ‘आवेदन प्रपत्र” का विमोचन किया। इसके द्वारा आंदोलनकारियों की नए सिरे से पहचान कर सूचीबद्ध किया जाएगा।

सीएम हेमन्त सोरेन ने कहा कि यह राज्य उनकी शहादत को कभी भूल नहीं सकता है। ऐसे सभी आंदोलनकारियों हम पूरा मान -सम्मान देंगे।आंदोलनकारियों को कैसे मान- सम्मान और अधिकार से अलग रखा जा सकता है। इस पर गंभीरता से मंथन करते हुए मैंने झारखंड आंदोलनकारियों की पहचान के लिए नया स्वरूप बनाया है, ताकि सभी को सूचीबद्ध कर उन्हें सरकार से मिलने वाले लाभ से जोड़ा जा सके।राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में नहीं , आंदोलनकारी का बेटा के रूप में आपको अधिकार और सम्मान दिलाएंगे। आपकी तकलीफ को कम करने में सरकार अहम भूमिका निभाएगी । इसके साथ राज्य के विकास में जो भी बाधाएं होंगी, आप सभी के सहयोग से उसे दूर करते हुए नया झारखंड बनाएंगे।

यह भी पढ़े.. MP पंचायत और निकाय चुनाव से पहले बड़ी तैयारी, हटाए जाएंगे कई जिलों के SP-ASP और DSP

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सार्वभौम पेंशन योजना लागू की है। उसमें हर योग्य लाभुक को पेंशन मिलेगा । पेंशन को लेकर संख्या की कोई सीमा नहीं होगी । सभी बुजुर्ग, दिव्यांग, परित्यक्ता, विधवा और एकल महिला को पेंशन योजना से जोड़ा जा रहा है ।मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से भी आंदोलनकारियों को अवगत कराया।